सिंघु बॉर्डर पर पक्के मकान बनाने पर किसानों के खिलाफ मामला दर्ज

punjabkesari.in Monday, Mar 15, 2021 - 01:13 PM (IST)

सोनीपत(पवन राठी): सोनीपत के सिंघु  बॉर्डर पर कृषि कानूनों को रद्द कराने की मांग को लेकर आंदोलनरत किसानों ने बोरवेल करने के साथ ही हाईवे पर पक्के मकान बनाने शुरू किए  जिसके बाद उनके खिलाफ मुकदमे दर्ज किए गए हैं। एनएचएआई के प्रोजेक्ट डायरेक्टर ने हाईवे पर पक्के मकान बनाने शुरू करने व सडक़ को क्षतिग्रस्त करने का मुकदमा दर्ज कराया है तो नगर पालिका सचिव ने बिना अनुमति पब्लिक प्रॉपर्टी पर बोरवेल करने का मुकदमा दर्ज कराया है। वहीं पुलिस ने फिलहाल निर्माण व बोरवेल का काम रुकवा रखा है।  

 एनएचएआई के प्रोजेक्ट डायरेक्टर आनंद कुमार ने कुंडली थाना पुलिस को बताया कि कुंडली गांव पास स्थित एक कार कंपनी के सामने हाईवे पर कुछ लोगों ने अवैध निर्माण शुरू कर दिया है। उन्होंने ईंटों से हाईवे पर ही पक्के मकान बनाने शुरू कर दिए है। इसके लिए हाईवे को भी नुकसान पहुंचाया गया है। उन्होंने अवैध कब्जा करने के फोटो भी पुलिस टीम को उपलब्ध कराए हैं। जिस पर कुंडली थाना पुलिस ने आनंद सिंह के बयान पर  धारा 283, 431 और 8बी नेशनल हाईवे एक्ट-1956 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है।वहीं कुंडली नगर पालिका सचिव पवन कुमार ने कुंडली थाना पुलिस को शिकायत दी है कि हाईवे के पास केएफसी के सामने खाली जमीन पर किसानों ने बोरवेल कर दिया है। इसके लिए कोई अनुमति नहीं ली गई है।

उन्होंने पंजाब के किसान कर्म सिंह समेत अन्य के खिलाफ शिकायत दी है। उन्होंने कहा कि नगर पालिका अभियंता कुंडली ने किसानों के पास जाकर उन्हें बोरवेल करने से मना किया था, उसके बावजूद बोरवेल किया जा रहा है। जिस पर पुलिस ने पवन के बयान पर कर्म सिंह व अन्य पर भादसं की धारा 188 के साथ ही 8बी नेशनल हाईवे एक्ट-1956 के तहत मुकदमा दर्ज किया है। पुलिस मामलों की जांच कर रही है।

 डीएसपी विरेंद्र राव ने बताया कि एन एच आई के ऑफिसर की शिकायत मिली थी बोरवेल के बारे में तो हमने उस पर मामला दर्ज कर लिया है और उसकी जांच शुरू कर दी है जो मकान सिंघु बॉर्डर पर बना रहे थे उसका हमें पता चला था तो हम मौके पर पहुंचे थे वहां पर जिस ग्रुप के नेता मनजीत सिंह राय हैं उनसे हमारी बात हुई फिलहाल मनजीत भाई किसी काम से बाहर गए हुए हैं और उन्हें काम को रकवा दिया है जैसे वे बॉर्डर पर पहुंचेंगे तो उनसे आगे की बातचीत की जाएगी बन रहे मकान पर भी अभी जांच जारी है।

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।) 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Isha

Related News

Recommended News

static