किसानों के 100 करोड़ रुपए डकारने वाले व्यापारी सहित परिवार पर केस दर्ज, 4 महिलाओं सहित 12 लोगों पर होगी कार्रवाई

punjabkesari.in Saturday, Dec 09, 2023 - 07:05 PM (IST)

चरखी दादरी (पुनीत श्योराण) : झिंझर के ग्रामीणों के करोड़ों रुपये लेकर चंपत होने वाले आढ़ती रामनिवास और उसके परिवार के अन्य 11 सदस्यों के खिलाफ पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है। दो दिन पहले ही इस मामले को लेकर झिंझर के ग्रामीणों को प्रतिनिधिमंडल एसपी नितिका गहलोत से मिला था। उस दौरान प्रतिनिधिमंडल ने आढ़ती पर अनपढ़ लोगों के साथ धोखाधड़ी कर आधी रकम हड़पने के आरोप भी लगाए थे।

बता दें कि मूलरूप से झिंझर निवासी आढ़ती रामनिवास शहर की पुरानी अनाज मंडी में दुकान चलाता था। दुकान के ऊपर ही उसने मकान बनाया हुआ था जिसमें वो परिवार समेत रहता था। वहीं झिंझर के ग्रामीण रामनिवास के साथ पिछले 30 सालों से लेन-देन करते थे। वो घर में आई रकम रामनिवास को दे देते थे। इसके बदले रामनिवास उन्हें थोडा बहुत ब्याज देता था जबकि जरूरत पड़ने पर लोग उससे पैसे ले भी लेते थे। पिछले एक सप्ताह से आढ़ती परिवार समेत फरार है। आढ़ती के फरार होने के बाद लोग परेशान हैं।

इस मामले को लेकर झिंझर गांव में दो बार पंचायत भी आयोजित की गई है। पंचायत में एक कमेटी के गठन का निर्णय लिया गया था और कमेटी की अगुवाई में ही दो दिन पहले झिंझर के ग्रामीण दादरी एसपी नितिका गहलोत से मुलाकात करने पहुंचे थे। उस दौरान उन्होंने एसपी से आढ़ती का पता लगाकर उससे रुपयों की बरामदगी करने की मांग की थी। एसपी ने कार्रवाई का आश्वासन दिया था और शुक्रवार शाम सिटी थाना पुलिस ने इस संबंध में आढ़ती और उसके परिवार के अन्य सदस्यों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है।

सिटी पुलिस थाना प्रभारी राजकुमार ने बताया कि एसपी के निर्देशों पर पुलिस ने कृष्ण बंसल पुत्र रामेश्वर, रामनिवास पुत्र रामेश्वर, सुरेश पुत्र रामेश्वर, अंकित पुत्र रामनिवास, अखिल पुत्र रामनिवास, शीला पत्नी कृष्ण, अनीता पत्नी रामनिवास, सुमन पत्नी सुरेश, प्रिंयका पत्नी अंकित, ध्रुव पुत्र सुरेश, पुनीत पुत्र कृष्ण और बोबी पुत्री रामनिवास के खिलाफ धारा 406 व 420 के तहत केस दर्ज किया है।

(हरियाणा की खबरें अब व्हाट्सऐप पर भी, बस यहां क्लिक करें और Punjab Kesari Haryana का ग्रुप ज्वाइन करें।) 
(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Editor

Mohammad Kumail

Recommended News

Related News

static