केंद्र सरकार ने किसानों के साथ की वायदा खिलाफी: आत्मा राम झोरड़

punjabkesari.in Wednesday, Aug 10, 2022 - 07:32 PM (IST)

ऐलनाबाद(सुरेंद्र सरदाना): ऐलनाबाद किसान सयुंक्त मोर्चा के सदस्य आत्मा राम झोरड़ ने केंद्र सरकार पर किसानों के साथ वायदा खिलाफी का आरोप लगाया है। उन्होंने बुधवार को एक प्रेस विज्ञप्ति जारी करते हुए लिखा  है, क्योंकि केंद्र सरकार बनने से पहले जो सत्तासीन दल द्वारा वायदे किए थे, उनको तो चुनावी जुमले कहकर अपनी सफाई दे दी। लेकिन सरकार बनने के बाद किसानों से किए वादों पर खरा न उतर कर अपने वायदें के खिलाफी का सबूत दिया है।  उन्होंने कहा की  देश के माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तीन काले कानून वापस लेते वक्त किसानों से वादा किया था कि एमएसपी पर कानून बनाने को लेकर संयुक्त किसान मोर्चा के 3 सदस्यों को साथ लेकर एक कमेटी बनाई जाएगी तथा बिजली विधेयक 2022 किसानों से मीटिंग किए बगैर संसद में पेश नहीं किया जाएगा। लेकिन  इन दोनों बातों पर सरकार ने किसानों के साथ वादें के खिलाफी कर मुकर की अपनी मुहर लगा दी है और एक बार फिर देश के किसान को  बड़े आंदोलन का सामना करने के लिए मजबूर कर दिया है।

 

आजादी के अमृत महोत्सव  पर उन्होंने कहा जिस देश में सरकारी आंकड़ों के अनुसार 7 करोड़ से अधिक लोगों के पास रहने के लिए घर न हो। हजारों लोगों की खुले में सोने की वजह से सर्दी और गर्मी न सहते हुए मौत होती हो। जिस देश को कृषि प्रधान देश कहा जाता था, वहां का किसान आत्महत्या करता हो और नागरिक भोजन की कमी  की वजह से मरता हो। जहां शिक्षा और स्वास्थ्य की बेहतर व्यवस्था ना हो और नौजवान बेरोजगारी की वजह से नशे की लत से प्रभावित हो। वहां की सरकार सिर्फ कारपोरेट घरानों की चिंता करती हो और जबरदस्ती झंडे फहराने के तुगलकी फरमान को किसी भी कीमत पर न्याय संगत नहीं कहा जा सकता।  आज देश का 20% नागरिक पूछता है कि मेरे पास छत नहीं है, मैं झंडा कहां फहराउ ऐसे सवाल के लिए अगर  सरकार के पास कोई जवाब  न हो, तो  ऐसी  आज़ादी की बात करना  बेमानी होगा। इस प्रकार झोरड़ ने सरकार से मांग की है कि आज़ादी के महत्व को पूर्ण करने के लिए देश  के आमजन को बुनियादी चीज़े उपलब्ध करवाना जरूरी है, तभी हर जन  आज़ादी का लुत्फ उठा सकता है। 

 

 (हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भीबस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)

 

 

 

 

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Gourav Chouhan

Related News

Recommended News

static