चंडीगढ़ मात्र जमीन का टुकड़ा नहीं, हरियाणवियों की भावना से जुड़ा मुद्दा है: बुद्धिराजा

punjabkesari.in Wednesday, Apr 06, 2022 - 06:48 PM (IST)

चंडीगढ़ (धरणी) : पंजाब की आम आदमी पार्टी सरकार द्वारा चंडीगढ़ और एसवाईएल को लेकर पास किए गए प्रस्ताव के साथ ही हरियाणा के आप प्रभारी सुशील गुप्ता द्वारा चंडीगढ़ को दो भागों में बांट कर हरियाणा-पंजाब को देने बारे आए बयान की निंदा करते हुए हरियाणा युवा कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष दिव्यांशु बुद्धिराजा ने बड़ी टिप्पणी करते हुए कहा है कि चंडीगढ़ मात्र एक जमीन का टुकड़ा नहीं, इससे हर उस व्यक्ति की भावना जुड़ी हुई है जो हरियाणवी होने पर गर्व महसूस करता है।

बुद्धिराजा ने कहा कि आम आदमी पार्टी के नेताओं की इस प्रकार की सोच होना यह साबित करती है कि यह लोग हरियाणा विरोधी है। हरियाणा युवा कांग्रेस ने 3 दिन पहले ही दिल्ली स्थित आम आदमी पार्टी कार्यालय पर प्रदर्शन भी किया है। इस हरियाणा विरोधी सोच के लोगों से जनता को सतर्क रहने की जरूरत है। अरविंद केजरीवाल - भगवंत मान - सुशील गुप्ता हरियाणा पंजाब के भाईचारे को तोड़ने की कोशिश में है। इन्हें लोगों की भावनाओं से कोई फर्क नहीं पड़ता। यह चंडीगढ़ और एसवाईएल को मात्र राजनीति का मुद्दा मान रहे हैं। जबकि यह हमारी भावना हमारी जरूरत और हमारी पहचान है।

बुद्धिराजा ने सुशील गुप्ता को नसीहत देते हुए कहा है कि बयानबाजी करने से पहले वह पंजाब के मुख्यमंत्री से मुलाकात करें की सुप्रीम कोर्ट की गाइडलाइन के बावजूद हरियाणा को उसके हक का पानी क्यों नहीं दिया जा रहा। हरियाणा हितेषी बनाने का दिखावा करने वाले गुप्ता को भगवंत मान के पास जाकर हरियाणा के खेतों तक एसवाईएल के पानी को पहुंचाना चाहिए, फिर उसके बाद चंडीगढ़ के परिपेक्ष में कोई बात करें। दिव्यांशु ने कहा कि इस प्रकार की सोच रखने वाले लोगों का राजनीति में प्रवेश होना बेहद खतरनाक है।

हरियाणा के लोगों को सचेत रहने की आवश्यकता है। विभाजनकारी नीति की सोच हरियाणा-पंजाब के भाईचारे को बिगाड़ कर रख देगी। चंडीगढ़ हरियाणा की राजधानी थी, है और रहेगी। चंडीगढ़ हरियाणा की आन बान और शान है और हरियाणा के हकों की बात पर सभी दल राजनीतिक चोला उतार कर लड़ाई लड़ेंगे। हम पहले हरियाणवी हैं फिर उसके बाद किसी और दल से हैं। इस मुद्दे पर पॉलिटिकल मतभेद नहीं होना चाहिए। हरियाणा विरोधी सोच वाली आम आदमी पार्टी हरियाणा में पांव पसार रही है जो हरियाणा के लिए अच्छे संकेत नहीं है।

हाल ही में युवा कांग्रेस द्वारा शिक्षा मंत्री कवर पाल गुर्जर के निवास के घेराव पर बात करते हुए बुद्धिराजा ने कहा कि हरियाणा सरकार द्वारा हरियाणा विद्यालय अधिनियम 2003, 134 ए को खत्म करके गरीबों के साथ कुठाराघात किया है। गरीबों के हितों के दावे करने वाली सरकार ने प्राइवेट स्कूलों में 10 फ़ीसदी गरीब बीपीएल और ईडब्ल्यूएस कैटेगरी के मेधावी विद्यार्थियों का आरक्षण खत्म किया है। सरकार नहीं चाहती कि प्राइवेट स्कूल में गरीब का बच्चा पढ़ें। यह एक शर्मनाक सोच और शर्मनाक हरकत है। जिसका विरोध हमने किया था। हम गरीब के साथ गलत नहीं होने देंगे।

बुद्धिराजा ने बताया कि आज ना केवल गरीब बल्कि मध्यमवर्गीय परिवारों की जेबों पर भी प्राइवेट स्कूल सरकार के माध्यम से डाका डाल रहे हैं। 2 साल तक कोविड ने मध्यमवर्गीय परिवारों की कमर तोड़ कर रख दी। अब अनावश्यक बोझ प्राइवेट स्कूल संचालक मध्यम वर्गीय लोगों से सिक्योरिटी के तौर पर 10 से 15 हजार रुपए ले रहे हैं और फीसें भी बढ़ा दी गई हैं। यह प्राइवेट स्कूल संचालकों की नाजायज वसूली है।हरियाणा सरकार को हस्तक्षेप करके प्राइवेट स्कूलों के गलत सोच को बदलना होगा।

बुद्धिराजा ने जानकारी देते हुए बताया कि एचपीएससी और एचएसएससी दोनों ही कमीशन भ्रष्टाचार के अड्डे बन चुके हैं। हरियाणा सरकार में शामिल कुछ लोग इन कमिशन के माध्यम से लूट मचाए हुए हैं। जिसे लेकर सोनीपत घेराव के बाद अब जल्द ही हरियाणा युवा कांग्रेस फरीदाबाद में एक बड़ा प्रदर्शन करने जा रही है। बता दें कि हरियाणा युवा कांग्रेस ने एचपीएससी और एचएसएससी का भी घेराव किया था। अब बुद्धिराजा ने जल्द ही हर जिले में जाकर युवाओं को सचेत करने, जागरूक करने और एकजुट करने की बात कही है। बुद्धिराजा ने बताया कि वह प्रदेश के हर युवा की लड़ाई लड़ने के लिए तैयार हैं और एचपीएससी - एचएसएससी के माध्यम से सरकार की कार्यप्रणाली को प्रदेश की जनता तक पहुंचाएंगे। जिसके लिए एक टोल फ्री नंबर जारी किया जाएगा। कॉल सेंटर बनाया जाएगा। जिसमें प्रदेश के युवाओं की तकलीफों को सुना जाएगा। अगर सरकार से युवा परेशान है और सुनवाई नहीं हो रही तो प्रदेश सरकार के सामने प्रदेश युवा कांग्रेस जनता की युवाओं की तकलीफों को रखने का माध्यम बनेगी। हरियाणा के बेरोजगार युवा और पेपर लीक होने के कारण जिन युवाओं की उम्मीदों पर पानी फिरा है उनकी समस्याओं का निवारण हरियाणा युवा कांग्रेस करेगी।

बुद्धिराजा ने कहा कि एचपीएससी में पेपर करवाने के जिम्मेदार अधिकारी के कार्यालय में इतनी मोटी रकम का मिलना और फिर मात्र सारा ठीकरा उच्च अधिकारी पर फोड़ना कहीं ना कहीं सरकार की मंशा पर सवालिया निशान खड़ा करता है। छोटे-मोटे कर्मचारियों को पकड़कर सभी मामलों को रफा-दफा कर दिया जाता है। जबकि जांच होनी चाहिए कि यह काम किसकी शह पर चल रहा है। सरकार में बैठे बड़े मगरमच्छ अभी भी बाहर हैं। इसकी जांच होनी चाहिए। मुख्यमंत्री को सीबीआई जांच के आदेश जारी करने चाहिए।

इस मौके पर कांग्रेस में चल रही आपसी फूट को लेकर जवाब देते हुए बुद्धिराजा ने कहा कि हरियाणा युवा कांग्रेस एक ऐसा संगठन है जो विपक्ष में रहते हुए जनता की लड़ाई सड़कों पर लड़ता है। लोगों की आवाज बनता है और जिस प्रदेश में सरकार है, वहां सरकार और लोगों के बीच में एक समन्वय का काम करता है। आज प्रदेश में सभी जिला अध्यक्ष, प्रदेश के पदाधिकारी और सभी 90 विधानसभाओं के अध्यक्ष बड़ी मजबूती से कार्य कर रहे हैं। युवा कांग्रेस में किसी भी प्रकार की कोई गुटबाजी नहीं है और हमारे लिए कांग्रेस पार्टी के सभी नेता सम्माननीय हैं। सभी के साथ हमारा अच्छा समन्वय है। हरियाणा में कांग्रेस विपक्ष की भूमिका में है और जब जब कहीं भी युवाओं के हकों पर डाका डालने का काम सरकार करेगी, हरियाणा युवा कांग्रेस उनके आगे ढाल बनकर खड़ी हो जाएगी। हरियाणा युवा कांग्रेस अगले 6 महीने में बेरोजगारी को लेकर एक बड़ा अभियान छेड़ने जा रही है।

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)


 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Manisha rana

Related News

Recommended News

static