हर रोज जींद सर्कल में 60 लाख से ज्यादा यूनिट की खपत, गर्मी बढ़ते ही बढ़ी यूनिटों की संख्या

5/24/2020 3:38:02 PM

जींद (ललित) : हर रोज जींद सर्कल में 60 लाख से ज्यादा यूनिट की खपत हो रही है। हर रोज  दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम को इतनी यूनिट मिल रही है और 10 दिन से गर्मी बढ़ने के साथ ही यूनिटों की मांग भी एकाएक बढ़ गई है। फिलहाल निगम के सभी फीडर अंडर लोड चल रहे है। इस बार लोगों को गर्मी ठीक-ठाक निकलने की उम्मीद जताई जा रही है। अभी तक निगम ने बिजली कट लगाने के कोई शैड्यूल नहीं बनाया है।

जींद सर्कल में 12 सब डिवीजन आते है। इनमें कृषि, उद्योग  और शहरी तथा ग्रामीण क्षेत्र में हर रोज लगभग 60 लाख यूनिट की खपत हो रही है। 2 दिन पहले की यूनिटों पर यदि नजर डाली जाए तो यह आंकडा लगभग 60 लाख यूनिट के आस-पास ही रहा। कई सालों से बिजली संकट झेल रहा जींद शहर पिछले साल सैक्टर 9 का 132 केवी पावर हाऊस चालू  होन के बाद बिजली कटों से मुक्त हुआ है। 2 साल पहले जींद में हालात यह थे कि मई औऱ जून महीने में निगम को फीडर चलाने के लिए पसीना बहाना पड़ता था, क्योंकि पुराना पावर हाऊस के फीडर ओवर लोडिंग के कारण जबाव दे जाते थे। ऐसे में निगम द्वारा एक घंटे बिजली सप्लाई बंद करनी पड़ती थी।      

गर्मी शुरु होने से पहले ही लोगों को भय सताने लगता था कि इस बार गर्मी में उनका क्या हास होगा, लेकिन पिछले साल जींद में निगम के अधीक्षक अभियंता श्यामबीर सैनी के प्रयासो से सैक्टर 9 का पावर हाऊस चालू हो गया था।  पिछले साल भी गर्मी कैसे निकल गई, जींद शहर के लोगों को पता ही नहीं चला। इस बार भी बिजली की सप्लाई सामान्य चल रही है। हालांकि 20 दिन पहले तक बिजली की खपत 40 लाख यूनिट की थी, लेकिन अब एकदम गर्मी बढ़ने के साथ और लॉकडाउन-4 के तहत कुछ छूट मिलने के बाद बाजार खुलने से बिजली की मांग बढ़ी है। निगम के अधिकारियों की मानें तो अभी तक निगम को पूरी यूनिट मिल रही है। जींद सर्कल में किसी भी प्रकार की दिक्कत गर्मी में लोगों को नहीं होने दी जाएगी।        

सैक्टर-9 का पावर हाऊस जींद के लिए बना संजीवनी      
2 साल पहले तक जींद के लोग गर्मी शुरु होते ही परेशान होने लगते थे, क्योंकि पुराना पावर हाऊस के फीडर जबाव दे जाते है, क्योंकि पुराना पावर हाऊस के फीडर जवाब दे जाते थे और कोई निगम के पास इसके अलावा कोई विकल्प नहीं था। सैक्टर 9 का 132 के.वी. का पावर हाऊस चालू होते ही निगम के कर्मचारियों के अलावा लोगों को भी राहत मिली है। ओवर लोडिंग कम हुई तो बार-बार फ्यूज उड़ने की समस्या भी पूरी तरह से खत्म हो गई। निगम के अधिकारियों के अनुसार गर्मी शुरु होने से पहले ही निगम ने तमाम जगह पर ओवरलोडिंग को पूरी तरह से दूर करवा दिया था। बिजली सप्लाई के लिए जींद शहर को 2 भागों में बांटा गया। पाश कॉलोनी समेत कई कालोनियों को सैक्टर 9 के पावर हाऊस से जोड़ा गया, जबकि पुराने शहर को पुराने पावर हाऊस से चालू किया गया।      

निगम ने जरुरत के हिसाब से बढ़ाया लोड  
पिछले 2 सालों पर नजर डाली जाए तो निगम ने जींद शहर में जरुरत के हिसाब से लोड़ बढ़ाने का काम किया।  डी.आर.डी.ए. के सामने की हुड्डा मार्कीट में जहां बार-बार कट के कारण दुकानदार परेशान थे, वहीं पर अधीक्षक अभियंता के प्रयासों से इसके आस-पास के एरिया में नया ट्रांसफार्मर रखवाकर इन यहां लगे ट्रांसफार्मरों को ओवर लोडिंग से मुक्त करवाया गया। अब जींद शहर में प्रत्येक कालोनी के ट्रांसफार्मर अंडर लोड है। 


 


Edited By

Manisha rana

Related News