कांट्रैक्ट फार्मिंग से किसानों को नुकसान नहीं होगा : सीएम खट्टर

10/19/2020 10:16:36 AM

गोहाना : मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि बरोदा हलका पूरी तरह से ग्रामीण है और विकास में पिछड़ा है। प्रदेश सरकार बरोदा को विकास की मुख्य धारा में लाएगी। इसके लिए सरकार ने  यहां इंडस्ट्रियल माडल टाऊनशिप (आई.एम.टी.) बनाने व चावल मिल लगाने की योजना बनाई है। बरोदा के उप-चुनाव में विपक्षी दलों के नेता लोगों को जात-पात, किसानों के भ्रमित मुद्दों पर गुमराह करने की कोशिश करेंगे लेकिन भाजपा के कार्यकत्र्ताओं को उनका जवाब देना है।

मुख्यमंत्री ने यह बात वैबिनार में बरोदा हलके के ग्रामीणों को संबोधित करते हुए कही। इसके बाद मुख्यमंत्री ने हलके के युवाओं से वर्चुअल संवाद किया। भाजपा के आई.टी. सैल ने ‘सोच लिया है-ठान लिया है’ कार्यक्रम में बरोदा हलके के 54 गांवों में सार्वजनिक स्थानों पर बड़ी स्क्रीन व एल.ई.डी. लगाई। इसके बाद मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने वैबिनार में बरोदा हलके के लोगों को संबोधित किया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा की कृपा से श्रीकृष्ण हुड्डा 3 बार बरोदा हलके के विधायक बने लेकिन उन्होंने विधानसभा में एक बार भी अपने हलके के विकास के लिए आवाज नहीं उठाई। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने जो नए 3 कृषि कानून बनाए हैं उनसे किसानों को अपनी फसल कहीं भी अच्छे भाव पर बेचने की आजादी मिली है। प्रदेश में मंडियां भी रहेंगी और फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य भी रहेगा। कांट्रैक्ट फार्मिंग में किसानों को नुक्सान नहीं होगा। कंपनी किसान से जो अनुबंध करेगी उसके अनुसार पूरा भुगतान करना होगा।


Manisha rana

Related News