दुखद: मरीजों का इलाज करते-करते कोरोना की चपेट में आई डॉक्टर, इलाज के दौरान तोड़ा दम

11/22/2020 11:35:01 PM

फरीदाबाद (अनिल राठी): कोरोना महामारी के खिलाफ छिड़ी विश्वव्यापी जंग में डॉक्टर, नर्स योद्धा की तरह लड़ रहे हैं। इस लड़ाई में इन कोरोना योद्धाओं में से एक डॉ. संतोष ग्रोवर ने अपनी शहादत दे दी। डॉ. ग्रोवर एनआईटी-3 में अपने परिवार के साथ अशोक नर्सिंग होम में प्रैक्टिस करती थी व उनका सभी मरीजों के साथ बहुत ही प्यार भरा संबंध था। दुर्भाग्यवश इसी दौरान मरीजों का इलाज करते हुए वे कोरोना की चपेट में आ गई और इलाज के दौरान 21 नवंबर को स्वर्ग सिधार गई।

आईएमए फरीदाबाद की अध्यक्षा डॉ. पुनीता हसीजा ने बताया कि अभी हम 1 सप्ताह पूर्व डॉ. अर्चना भाटिया की मौत के दुख से उभरे ही नहीं थे कि यह दूसरा झटका डॉक्टरों को लगा है। भारत में अब तक 650 से ज्यादा डॉक्टर्स कोरोना का इलाज करते हुए इसके संक्रमण में आ चुके हैं और अपनी जान गंवा चुके हैं।

डॉ. ग्रोवर के निधन पर राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ राजन शर्मा, राष्ट्रीय सेक्रेटरी डॉ. अशोकन, प्रदेश अध्यक्ष डॉ. प्रभाकर शर्मा ,प्रदेश सेक्रेटरी डॉ. विवेक मल्होत्रा ने अपनी संवेदना व्यक्त की है। फरीदाबाद के मीडिया प्रभारी डॉ. सुरेश अरोड़ा और आईएमए अध्यक्षा डॉ. पुनीता हसीजा ने बताया कि फरीदाबाद में अब तक 4 डॉक्टरों कोरोना के विरुद्ध अपनी जान गवां चुके हैं। इससे पहले डॉ. अर्चना भाटिया, डॉ. रेनू गंभीर व डॉ. आभा सभरवाल भी अपनी जान गंवा चुकी हैं।

उन्होंने बाकी सभी डॉक्टरों से भी अपील की कि वह मरीजों का इलाज करते हुए और भी ज्यादा सावधानी बरतें और अपनी जान का भी ध्यान रखें और मरीजों का भी ख्याल रखें।


Shivam

Related News