बिजली मंत्री के गांव चौटाला में बिजली घर का घेराव, अधिकारियों के हाथ-पांव फूले

punjabkesari.in Tuesday, Jun 29, 2021 - 09:44 PM (IST)

डबवाली (संदीप): डबवाली के गांव आसाखेड़ा केवार्ड नं. 11 की ढाणियों में बिजली की समस्या को लेकर अखिल भारतीय किसान सभा के बैनर तले बिजली मंत्री रणजीत चौटाला के गांव चौटाला के बिजली घर का घेराव किया गया। बिजली घर में धरना-प्रदर्शन की भनक लगने पर बिजली विभाग के अधिकारियों के हाथ-पांव फूल गए। विभाग के अधिकारी चौटाला बिजली घर में पहुंचे। यहां धरना लगाकर प्रदर्शन कर रहे ग्रामीणों की समस्या जानी और जल्द बिजली समस्या के समाधान का आश्श्वासन दिया। हालांकि ग्रामीण विभाग के अधिकारियों के आश्श्वासन पर राजी नहीं हुए और धरना समाप्त नहीं किया।

जानकारी देते हुए राकेश फगोडिय़ा ने बताया कि भीषण गर्मी के बीच बिजली विभाग गांव आसाखेड़ा की करीब 30 ढाणियों को आज भी बिजली मुहैया करवाने में फैल साबित हो रहा है। इसी समस्या को लेकर बीती 10 जून को ज्ञापन दिया था। लेकिन विभाग ने इन ढाणियों को बिजली देने की दिशा में कोई कदम नहीं उठाया। फगोडिय़ा ने कहा कि उन्होंने लाइनमैन को ले जाकर मौके का मुआयना भी करवाया था। सिर्फ 6 बिजली के पोल लगने हैं। जिसके बाद इन 30 ढाणियों को रोशन किया जा सकता है। इन ढाणियों के लोग दो वर्षों से बिजली निगम के कार्यालय के चक्कर लगा रहे हैं। करीब 30 ढाणियों में बिजली नहीं है।

फगोडिय़ा ने बताया कि 7 से 8 ढाणियों में टयूबवैल की लाइट से महज कुछ घंटे बिजली मिलती है। इसके अलावा अन्य ढाणियों में बिजली की कोई व्यवस्था नहीं है। फगोडिय़ा के मुताबिक इसके अलावा बीते दिनों तूफान में गिरे बिजली के पोल और लाइन को आज भी ठीक नहीं किया गया है। ऐसे में ढाणियों के लोग बिना बिजली के भीषण गर्मी में  समस्याओं का सामना कर रहे हैं। लेकिन इसके बावजूद बिजली विभाग के अधिकारयों की सेहत पर कोई असर नहीं है। इस दौरान धरनारत लोगों ने प्रदेश सरकार व बिजली विभाग के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

बिजली विभाग में आसाखेड़ा में एस.डी.ओ. के पद पर कार्यरत प्रेम चंद राठी के मुताबिक इन ढाणियों में वोल्टेज की समस्या है। ढाणियों के लोग फिडर बदलवाना चाहते हैं। उन्होंने लोगों की मांग पर एस्टीमेट बनाकर एक्सीईएन साहब के पास भेज दिया है। जल्द ही ढाणियों के लोगों की बिजली से जुड़ी समस्या दूर हो जाएगी।

 

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Shivam

Related News

Recommended News

static