यूएस नागरिकों से ठगी करने वाले फर्जी काल सेंटर का भंडाफोड़, 4 संचालकों सहित 14 को किया काबू

punjabkesari.in Thursday, Apr 21, 2022 - 08:36 AM (IST)

गुडग़ांव (ब्यूरो) : यूएस नागरिकों से ठगी करने वाले फर्जी काल सेंटर का भंडाफोड़ करते हुए पुलिस ने मौके से 4 संचालक सहित 14 कर्मचारियों को गिरफ्तार किया है। सेक्टर 40 थाना पुलिस ने आरोपितों से 14 लैपटाप, 9 मोबाइल और 1,13,930 रुपये बरामद किए हैं। सभी अपने आपको माइक्रोसाफ्ट कंपनी के कर्मचारी बताकर अमेरिकी नागरिकों के साथ ठगी करते थे। यह सेंटर इसी वर्ष मार्च से शुरू किया था।

सेक्टर 40 थाना पुलिस को सूचना मिली कि साउथ सिटी-एक के मकान नंबर सी-51 में फर्जी काल सेंटर चलाया जा रहा है। जिस पर सेक्टर-40 थाना प्रभारी इंस्पेक्टर कुलदीप सिंह ने टीम का गठन कर मौके पर पहुंचे। वहां मकान के प्रथम तल पर तीन-तीन अलग-अलग कमरों में तीन युवती और सात युवक काम कर रहे थे। पूछताछ में सामने आया कि डीएलएफ फेज-पांच निवासी कर्ण शर्मा, दिल्ली के मयंक नाथ, राहुल भाटी, मोहित बजाज और रजत जुनेजा उर्फ रिक्की उर्फ संजय सेंटर का संचालन करते हैं। मुकेश टीम फ्लोर मैनेजर है, जो सभी स्टाफ को मैनेज करता है। इनसे लाइसेंस मांगा गया तो वह नहीं मिला। जिसके बाद पुलिस ने सभी को गिरफ्तार कर लिया। रजत जुनेजा मौके पर नहीं था।

पकड़े गए आरोपितों ने पुलिस को बताया कि वे अमेरिकी नागरिकों के सिस्टम में पापअप भेजते थे। फिर उन्हें वायरस होना बताकर उसे ठीक करने के नाम पर वसूली करते थे। पापअप में टोल फ्र ी नंबर दिया होता था। अमेरिका के नागरिक उस नंबर पर काल करते थे। जिसके बाद एक्स-लाइट डायलर के माध्यम से जोर्डन द्वारा टोल फ्री नंबर 18882144394 पर ट्रांसफर होती थी। जोर्डन काल देने के बदले 1500 रुपये प्रति काल लेता था। अमेरिकी नागरिकों से सिस्टम टीक करने के बदले 500 से 1500 डालर, गिफ्ट कार्ड के माध्यम से पेमेंट करने को बोलते थे। उनसे अलग-अलग कंपनी टारगेट, एमेजन, एक्स-बाक्स, एप्पल के गिफ्ट कार्ड खरीदवाकर उनके नंबर प्राप्त कर लेते थे।

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Manisha rana

Related News

Recommended News

static