कोरोना जांच व वैक्सिनेशन से किसानों का इन्कार, भाकियू उग्राहा नेता के बोले- करोना है आम बीमारी

4/21/2021 4:27:50 PM

बहादुरगढ(प्रवीण कुमार धनखड): कृषि कानूनों को रद्द कराए जाने को लेकर दिल्ली के बॉर्डरों पर बैठे किसानों की कोरोना जांच व वैक्सिनेशन के लिए जहां सरकार ने सम्बंधित प्रशासन को आदेश दिए है, वहीं आंदोलनरत किसानों ने भी इन्हीं आदेशों पर अपना दो टूक जवाब देते हुए स्पष्ट कहा है कि वह किसी भी सूरत में न तो कोरोना की जांच कराएगें ।

बुधवार को किसानों ने बहादुरगढ़ के पकौड़ा चौक पर गदर पार्टी का स्थापना दिवस मनाया था। इसी दौरान हीं मीडिया के रूबरू हुए भारतीय किसान यूनियन उग्राहा के नेता ने कहा कि कोरोना एक आम बीमारी है। उन्होंने कहा कि किसान जब भी बीमार हुआ है तो वह बूटी लेने से ही ठीक हो जाता है। लेकिन सरकार किसानों की चिंता न करे। क्योंकि किसानों की देखभाल के लिए पंजाब व हरियाणा के डाक्टर मौजूद है जोकि पूरी तरह से किसानों की सेहत का ध्यान रख रहे है। 

सरकार को यदि चिंता करनी है तो सरकार कृषि सम्बंधित काले कानून रद्द करे तभी माना जाएगा कि सरकार किसानों की सच्ची हितैषी है। उन्होंने यह भी कहा कि बेशक सरकार लॉकडाऊन लगाकर देख ले,लॉक डाऊन से कोई फायदा होने वाला नहीं है। किसान नेताओं ने इस मौके पर दावा किया कि दिल्ली के सभी मोर्चों पर अब किसानों की भारी तादाद बढऩे वाली है।

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।) 


Content Writer

Isha

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News

static