किसान फिर शुरू करेंगे आंदोलन! सरकार के रवैये के चलते मनाया जाएगा 'वायदा खिलाफी दिवस'

punjabkesari.in Saturday, Jan 15, 2022 - 07:35 PM (IST)

सोनीपत(पवन राठी): हरियाणा के सोनीपत जिले के कुंडली क्षेत्र में किसान मोर्चा के कार्यालय में संयुक्त किसान मोर्चा के पदाधिकारी जुटे। किसानों की अहम  बैठक हुई बैठक में सभी 40 जत्थेबंदियों के प्रमुख शामिल रहे। बैठक के बाद प्रेस वार्ता में किसान नेता युद्धबीर सिंह ने कहा कि सरकार ने जो वादे हमसे किए हैं उन पर समीक्षा की गई है। सरकार ने कोई कमेटी नहीं बनाई है। कोई संपर्क नहीं किया गया है। रेलवे और दिल्ली के मुकदमें वापसी की कार्रवाई नहीं की गई। सरकार ने हरियाणा को छोड़कर कहीं भी मुकदमें वापसी नहीं किए गए हैं।

सरकार ने अब तक समझौते के अनुसार काम नहीं किया है। इसलिए संयुक्त किसान मोर्चा 31 जनवरी को पूरे देश में वायदा खिलाफी दिवस के रुप में सरकार का विरोध करेंगे। सभी शहरों में, कस्बों में जिला मुख्यालयों पर सरकार के पूतले जलाए जाएंगे। 1 फरवरी तक सरकार नहीं मानी तो मिशन यूपी व उत्तराखंड़ शुरू किया जाएगा।

वही किसान नेताओं ने कहा कि संयुक्त किसान मोर्चा गैर राजनीतिक है और पहले ही घोषणा हो चुकी है कि यह किसी राजनीतिक संगठन का साथ नहीं चुनाव लड़ेंगे। वही किसान संगठन और किसान नेता चुनाव लड़ रहे हैं।वह अब एसकेएम से बाहर निकाले जाएंगे। वह संयुक्त किसान मोर्चा का अभी से हिस्सा नहीं होंगे। 4 महीने तक संयुक्त किसान मोर्चा इस मामले पर गहनता से बातचीत करेगा और उसके बाद ही जो किसान नेता चुनाव लड़ रहे हैं उनके बारे में फैसला लिया जाएगा।

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।) 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Isha

Related News

Recommended News

static