हरियाणा में खाद्य वस्तुओं की जांच के लिए खोली जाएंगी पांच और लैब- स्वास्थ्य मंत्री

punjabkesari.in Wednesday, Apr 27, 2022 - 08:56 PM (IST)

चंडीगढ़(धरणी): हरियाणा के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री अनिल विज ने कहा कि खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग के पास चंडीगढ़ और करनाल में दो लैब है। इसके अलावा, पांच और नई लैब खोलने का प्रावधान किया जा रहा है जो गुड़गांव, फरीदाबाद, हिसार, अंबाला और रोहतक में आधुनिक संसाधनों सहित खोली जाएंगी। 

विज आज पंचकूला में खाद्य औषधि प्रशासन विभाग के कार्यालय के भवन का शिलान्यास अवसर पर उपस्थित लोगों को संबोधित कर रहे थे। इस अवसर पर हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष ज्ञानचंद गुप्ता भी उपस्थित थे। 

उन्होंने कहा कि लोगों को स्वच्छ खाने पीने की चीजे मिले, मिलावट रहित सामान मिले, औषधियों में शुद्धता हो, इसको देखने के लिए स्वास्थ्य विभाग से अलग हुए खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग का गठन किया गया। उन्होंने कहा कि हमारे पास मोबाइल वैन है जो 20 रुपये में दूध का टेस्ट करके उसका परिणाम बताती है। ऐसे ही हम खाने पीने की चीजों का टेस्ट करने के लिए और मोबाइल वैन भी लेने जा रहे हैं। 

उन्होंने कहा कि एफडीए विभाग दिन रात काम कर रहा है और हाल ही में विभाग ने सोनीपत में पांच जगह छापे मारकर आयुर्वेदिक की कोटे की खुली मार्केट में बेच देने वाली फर्मों पर शिकंजा कसा है क्योंकि ये फर्म दवाइयां बनाने के नाम पर अतिरिक्त कोटा ले रहे थी और मार्केट में बेच रही थी। उन्होंने कहा कि इस मामले में तीन लोगों को गिरफ्तार भी किया जा चुका है और 2 व्यक्तियों को पुलिस पकड़ने के लिए प्रयास कर रही है। इसी प्रकार नकली घी बनाने वाली फर्मों का भी भंडाफोड़ करने में विभाग ने सफलता प्राप्त की है। उन्होंने बताया कि कोरोना के दौरान भी रेमिडिसवीएर की नकली दवाई को विभाग के लोगों ने पकड़ा है और इस मामले में एक फैक्ट्री को भी सील किया गया है। उन्होंने कहा कि एक समय ऐसा था जब रेमिडिसवीएर बहुत जरूरी हो गई थी लेकिन समाज के यह क्रूर चेहरे इस नकली दवाई को महंगे दामों पर  बनाकर बेच रहे थे। उन्होंने कहा कि लोगों को दूषित रहित खाने पीने का सामान मिले, दवाइयां मिले, इसके लिए हमारा विभाग लगातार काम कर रहा है।

विज ने गलत काम करने वाले लोगों को चेताते हुए कहा कि हम नकली दवाइयां बेचने नहीं देंगे और इसके लिए हमने टीमें गठित कर दी हैं और यदि हमें और विभागों के स्टाफ की भी आवश्यकता पड़ी तो हम उन्हें लेकर और टीमें गठित करेंगे। उन्होंने कहा कि नशे को मिटाने के लिए विभाग दृढ़ संकल्पित है और अभी हाल ही में विभाग ने अंबाला छावनी में नशे का कारोबार करने वाले व्यक्ति की एक एकड़ में कब्जा कर बनाई गई कोठी पर भी बुलडोजर चला दिया। उन्होंने कहा कि हर गलत काम करने वाले को हम बख्शने वाले नहीं हैं।

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि नशे का कारोबार करने वाले या तो कारोबार करना छोड़ दें या हरियाणा छोड़ दें, हम उन्हें हरियाणा में चैन से नहीं रहने देंगे। उन्होंने कहा कि इसी कड़ी में हरियाणा राज्य नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो का गठन किया गया है और इस ब्यूरो में एडीजीपी रैंक के एक वरिष्ठ अधिकारी को मुखिया बनाया गया है। 

विज ने कहा कि पंचकूला में स्वास्थ्य विभाग का अलग से भवन भी बनाया जाएगा और इसी प्रकार पुलिस मुख्यालय का भी अलग से भवन यहां पर बनाया जाएगा। इसके लिए हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण को पत्र भी लिख दिया गया है।

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि कोविड-19 से हम सब ने लडाई लड़ी है और स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों ने अपनी जान हथेली पर रखकर लोगों की जान बचाई है। इस दौरान स्वास्थ्य विभाग के 28 लोग शहीद भी हो गए हैं, लेकिन मेरे विभाग के कर्मियों में कहीं पर भी निराशा नहीं आई है। उन्होंने कहा कि हमने कोरोना की चैथी लहर की तैयारियां कर ली है और आज ही प्रधानमंत्री ने राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग की है। उन्होंने कहा कि मैं यहां यह कहना चाहता हूं कि प्रधानमंत्री के कुशल नेतृत्व ने इस महामारी से भारत को निकाल लिया है।

उन्होंने कहा कि हमने मुफ्त टेस्ट किए, वैक्सीन दी और मुफ्त में लोगों का इलाज किया है और अब हम स्वास्थ्य सेवाओं को और सुदृढ़ कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि हालांकि पिछले दिनों ऑक्सीजन की दिक्कत आई थी लेकिन हरियाणा आज ऑक्सीजन के मामले में आत्मनिर्भर बन चुका है, हमारे पास आज पर्याप्त संख्या में वेंटिलेटर और दवाइयां उपलब्ध है। उन्होंने कहा कि कोरोना जरूर है लेकिन हमें हिदायतों का पालन करना चाहिए, इसीलिए दिल्ली से सटे 4 जिलों में मास्क लगाना जरूरी किया गया है।

मिलावटखोरों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई करने की जरूरत-विधानसभा अध्यक्ष

इससे पहले, हरियाणा विधानसभा के अध्यक्ष श्री ज्ञान चंद गुप्ता ने कहा कि यह खुशी की बात है कि पंचकूला के सेक्टर 3 में बनने वाले खाद्य एवं औषधि प्रशासन भवन का शिलान्यास स्वास्थ्य मंत्री श्री अनिल विज द्वारा किया गया है। दवाइयों और अन्य खाद्य पदार्थों में शुद्धता पर बल देते हुए गुप्ता ने कहा कि आज कुछ असामाजिक तत्व मिलावटखोरी में संलिप्त हैं। ऐसे लोगों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई करने की जरूरत है। 

गुप्ता ने कहा कि हर जिला स्तर पर एक खाद्य परीक्षण प्रयोगशाला स्थापित की जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि ऐसा देखने में आया है कि कई बार सेंपल को परीक्षण के लिए भेजने के पश्चात रिपोर्ट आने में काफी समय लग जाता है, जिसके कारण मिलावटखोरों के खिलाफ कार्यवाही करने में विलंब होता है। लोगों को शुद्ध खाद्य पदार्थ मिलें इसके लिए सेंपल की रिपोर्ट समय पर आना आवश्यक है। श्री गुप्ता ने कहा कि आज नशा हमारे युवाओं को बुरी तरह प्रभावित कर रहा है। इसे रोकने के लिए नशे के स्त्रोत तक पहुंचना आवश्यक है। 

कार्यक्रम के दौरान स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के अतिरिक्त सचिव राजीव अरोड़ा ने कहा कि आज बहुत खुशी का दिन है कि खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग का अपने कार्यालय के भवन का शिलान्यास किया गया है। उन्होंने बताया कि इस भवन पर लगभग 27 लाख रुपये का खर्च आएगा। 

खाद्य एवं औषधि प्रशासन हरियाणा के आयुक्त वजीर सिंह गोयत ने धन्यवाद प्रस्ताव प्रस्तुत किया।   इस अवसर पर नगर निगम के महापौर कुलभूषण गोयल, खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग के स्टेट कंट्रोलर मनमोहन तनेजा, बीजेपी जिला उपाध्यक्ष उमेश सूद, पार्षद राकेश वाल्मिकी, फार्मेसी काउंसिल के सदस्य बीबी सिंघल भी उपस्थित थे।

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vivek Rai

Related News

Recommended News

static