अब बायोगैस से पकेगा भोजन, पहले चरण में 200 घरों को दिए जाएंगे कनेक्शन

10/23/2021 11:15:57 AM

नारनौल (योगेंद्र सिंह ) : लगातार बढ़ रहे गैस के दामों से परेशान गृहणियों के लिए यह खबर बड़ी राहत देने वाली है। सरकार ने देश का विकल्प तलाशते हुए अब बायोगैस प्रोजेक्ट पर अपना ध्यान केंद्रित किया है। स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण के तहत लोगों को पाइप लाइन के द्वारा बायोगैस सप्लाई की जाएगी। हालांकि शुरुआती चरण में 200 घरों में कनेक्शन दिए जाएंगे और इसके बाद धीरे-धीरे सभी घरों में कनेक्शन देने की प्रक्रिया शुरू की जाएगी। इस योजना को लेकर डीसी अजय कुमार ने जिला स्वच्छ भारत मिशन मैनेजमेंट कमेटी की बैठक ली। उन्होंने गोधन प्रोजेक्ट का लाभ लोगों को सफलतापूर्वक देने के लिए योजना पर विस्तार से चर्चा की।

बायोगैस को घरों में की रसोई तक पहुंचाने के लिए मेन पाइप लाइन बिछाई जाएगी। इसके बाद छोटी पाइपलाइन के माध्यम से घरों के अंदर कनेक्शन दिए जाएंगे। इसके लिए गांव कटकई में आधा एकड़ में प्लांट स्थापित किया जा रहा है। यह गांव जिले का पहला ऐसा गांव  जहां आने वाले समय में खाना पकाने के लिए बायोगैस का उपयोग होगा। इससे लोगों को गैस खर्च में राहत मिलेगी वहीं गैस सिलेंडर के लिए भटकना नहीं होगा। साथ ही प्लांट से निकलने वाली वेस्ट गोबर का उपयोग खाद में किया जा सकेगा। इससे किसानों को डीएपी व यूरिया के लिए भी परेशान नहीं होना पड़ेगा। प्लांट में हर रोज 8 मेट्रिक टन गैस का उत्पादन होगा, इसके लिए हर रोज लगभग 160 किलोग्राम गैस का उत्पादन होगा। गांव में 760 बड़े पशु हैं। अनुमान के अनुसार एक पशु से 10 किलो गोबर मिलेगा। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Isha

Related News

Recommended News

static