विदेश भेजने के नाम पर लाखों रुपए की धोखाधड़ी, 3 के खिलाफ मामला दर्ज

4/23/2021 8:31:49 AM

शाहाबाद मारकंडा : शाहाबाद पुलिस ने विदेश भेजने के नाम पर लाखों रुपए की धोखाधड़ी करने के आरोप में 3 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। पुलिस को दी शिकायत में गांव मोहड़ा निवासी गुरवीर सिंह ने कहा कि उसका बड़ा भाई विशालजीत खेतीबाड़ी के साथ साथ धर्मकांटे पर बैठता है। वर्ष 2018 में उनके गांव में रहने वाले उसके दोस्त रमन ने कहा था कि उसका एक रिश्तेदार हबाना निवासी प्रवीण कुमार विदेश भेजने का कार्य करता है और विदेश रहकर आया है तथा अब शाहाबाद में हरियाणा स्पोर्ट्स के नाम से दुकान करता है। जिस पर उसने अपने परिजनों से बात की थी और रमन भी उसके साथ विदेश जाने को तैयार हो गया था। जब वह प्रवीण कुमार की दुकान पर जाकर उससे मिले तो उसने कहा कि वह उन्हें इटली भेज देगा और इस काम के लिए 8 लाख रुपए लगेंगे। इस पर उसके परिवार वाले राजी हो गए। शिकायत में कहा गया कि प्रवीण कुमार ने उनकी विजय कंबोज जो विदेश भेजने का काम करता है उसके साथ बातचीत करवाई। 

प्रवीण कुमार ने उन दोनों के कागजात व पासपोर्ट ले लिया और 50-50 हजार रुपए नकद ले लिए। इसके बाद आरोपी प्रवीण कुमार ने बिजनैस वीजा लगवाने के बाद उन दोनों का पासपोर्ट उन्हें दिया था और इसके लिए उन दोनों से डेढ़-डेढ़ लाख रुपए लिए थे। इसके बाद प्रवीण ने उन दोनों को मास्को जाने के लिए हवाई जहाज की टिकटें दी थी। 3 मई 2018 को प्रवीण कुमार व उसके परिजन उसे जहाज में छोडऩे के लिए दिल्ली गए थे। जहां पर प्रवीण कुमार ने उनकी मुलाकात नवजोत सिंह से करवाई थी और कहा था कि यह भी उनके साथ विदेश जाएगा। उसके बाद वह दोनों मास्को पहुंच गए, जहां हवाई अड्डे पर प्रवीण कुमार का भेजा हुआ रामभूल नाम का व्यक्ति उन्हें मिला जो उन्हें होटल में ले गया और एक सप्ताह वहां रहा।रामभूल ने मॉस्को में उनका बैंक खाता खुलवाया और कहा कि उनका रोमानिया का वीजा लग जाएगा लेकिन 3 माह बाद भी उनका वीजा नहीं लगा। जब इस बारे उन्होंने प्रवीण कुमार से बात की तो उसने कहा कि दूसरे देश भेज देगा और इस दौरान रामभूल ने उनके खाते से पैसे निकलवा लिए थे। 

आरोपी प्रवीण ने जुलाई माह में उनको मास्को से सर्बिया भेज दिया। सर्बिया जाने के लिए भी उन तीनों के परिजनों ने प्रवीण कुमार को डेढ़ लाख रुपए दिए थे। सर्बिया के एक होटल में उन्होंने एक माह गुजारा। शिकायतकत्र्ता ने अपने परिजनों से उन्हें वापस बुलाने को कहा। इसके बाद आरोपी प्रवीण ने उनके पास एक पाकिस्तानी एजैंट भेजा, जिसके साथ वह पैदल चलते चलते 3 दिन बाद ग्रीस पहुंचे, जहां पर उसने उन्हें अपने घर पर रखा और 6 माह के हम तीनों से काफी पैसे वसूल किए। इसके बाद आरोपी प्रवीण कुमार ने उनका फोन उठाना छोड़ दिया। इसके बाद उसने व नवजोत सिंह ने 2 महीने काम किया और पैसे जमा होने पर वापस सर्बिया आए। वहां पर उन्होंने भारतीय एंबैसी में अपनी आपबीती बताई और अपने खर्चे पर अपना पासपोर्ट बनवाकर वापस भारत आए। पुलिस ने मामला दर्ज करके आरोपियों की तलाश शुरू कर दी।

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)   


Content Writer

Manisha rana

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News

static