बेटी पढ़ाओ व बेटी बचाओ नारे की खुली पोल, बसों की कमी के कारण छात्राओं को हो रही परेशानी

punjabkesari.in Saturday, May 07, 2022 - 12:42 PM (IST)

गोहाना (सुनील जिंदल) : गोहाना में हरियाणा सरकार के बेटी पढ़ाओ और बेटी बचाओ नारे की पोल खुलती नजर आई। जहां प्रदेश का मात्र महिलाओं के लिए बनाया गया महिला विश्व विद्यालय व भगत फूल सिंह महिला मेडिकल कॉलेज खानपुर की छात्राएं रोज अपनी जान जोखिम में डाल कर रोडवेज की बसों में सफर कर रही है। 

छात्राओं का कहना है कि गोहाना से खानपुर के लिए रोडवेज बसों की संख्या बहुत कम है जिसके चलते छात्राओं को काफी परेशानी का सामना उठाना पड़ रहा है। बसों में बैठने की सीट नहीं होती जिस के चलते छात्राओं को भी बसों की खिड़ी पर लटक कर जाना पड़ता है। कई बार तो छात्राएं गिर भी जाती है। कई बार अधिकारियों को बस बढ़ाने की मांग की जा चुकी है, लेकिन इस और कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा जिसके चलते उन्हें काफी परेशानी उठानी पड़ती है। 

परिवहन कर्मचारी संघ के प्रदेश अध्यक्ष अशोक खोकर ने बताया कि लगातार प्रदेश में रोडवेज के बेड़े में बसों की संख्या कम है और वह कई बार बसों की संख्या को बढ़ाने की मांग उठाते आ रहे है, लेकिन आज तक रोडवेज के बेड़े में नई बसों को शामिल नहीं किया गया जिसके चलते यात्रियों को परेशानी का समाना करना पड़ता है।

रोडवेज के अधिकारी सुरेंद्र दुग्गल ने बताया कि खानपुर रूट पर एक स्पेशल बस चलाई हुई है जो दिन में पांच से छ बार आती जाती है। इसके इलावा करीब चार से पांच बसे ओर चलती है, लेकिन खानपुर में पड़ने वाली छात्राओं की संख्या ज्यादा है अधिकारियो को ओर बस के लिए बोला गया है। 

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Manisha rana

Related News

Recommended News

static