तालाब खोदकर हाईवे को जलभराव से बचाएगा प्रशासन

punjabkesari.in Friday, Jul 01, 2022 - 08:24 PM (IST)

गुड़गांव, (पवन कुमार सेठी) : गुरुग्राम के एक्सप्रेस-वे और हाईवे पर होने वाले जलभराव को रोकने के लिए प्रशासनिक अधिकारियों ने नई तरकीब निकाली है। इस तरकीब के तहत हाईवे पर जलभराव वाले स्थानों पर हाईवे के साथ-साथ तालाब खोदे जाएंगे। पहले से जो तालाब बने हुए हैं उनका आकार बड़ा किया जाएगा। इसके साथ ही जिन स्थानों पर तालाब नहीं खोदे जा सकते वहां पंप की संख्या बढ़ाई जाएगी। इसको लेकर जीएमडीए के सीईओ सुधीर राजपाल ने एनएचएआई के रीजनल ऑफिसर उदीप कुमार सिंघल के साथ बैठक की। इस दौरान दोनों विभागों के अधिकारी मौजूद रहे। 

गुरुग्राम की खबरों के लिए इस लिंक https://www.facebook.com/KesariGurugram पर क्लिक करें।

 

सीईओ ने बताया कि एंबियंस मॉल के पास बने नए अंडरपास को जलभराव से बचाने के लिए तेजी से कार्य करने के लिए कहा है। उन्होंने बताया कि हाईवे के दोनों तरफ के क्षेत्रों में तालाब का निर्माण किया जाएगा। उन्होंने एनएचएआई के अधिकारियों को निर्देश दिया कि उद्योग विहार की ओर ग्रीन बेल्ट में एनएचएआई द्वारा बने मौजूदा तालाब के क्षेत्र को बढ़ाया जाए और दूसरी तरफ एनएचएआई द्वारा अतिरिक्त तालाब का निर्माण भी जल्द से जल्द किया जाए। उन्होंने कम समय में सर्विस लेन के साथ-साथ मुख्य कैरिज-वे पर जलभराव की समस्या से निजात के लिए नरसिंहपुर के पास राइजिंग मेन के साथ बादशाहपुर नाले में बरसाती पानी को पंप करने के लिए दो अतिरिक्त पंप स्थापित करने का निर्देश दिए।

 

उन्होंने ने बादशाहपुर नाले के एनएच-48 के नीचे पुलिया की सफाई शुरू करने के निर्देश दिए, ताकि बरसाती पानी का बहाव एकत्र न हो और एनएच-48 के अपस्ट्रीम में जलभराव से बचा जा सके। उन्होंने निर्देश दिया कि नालों से मलबा साफ करने के लिए नरसिंहपुर के पास मशीनरी के साथ-साथ 24 घंटे कामगारों को तैनात किया जाए, ताकि बरसाती पानी का प्रवाह बाधित न हो। गुरुग्राम नगर निगम (एमसीजी) को पूरे मानसून अवधि के दौरान नालियों के बंद होने से बचाव के लिए राष्ट्रीय राजमार्ग के किनारे एकत्र होने वाला कचरा समय - समय पर उठाना सुनिश्चित करना चाहिए। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Pawan Kumar Sethi

Related News

Recommended News

static