पानी की बर्बादी रोकने के लिए करोड़ों रुपए के प्रोजेक्ट पर काम कर रहा है जीएमडीए

7/26/2020 10:25:18 AM

गुडग़ांव (ब्यूरो) : गुरुग्राम मेट्रोपालिटन डेवलपमेंट अथारिटी शहर में पेयजल आपूर्ति सुधारने के लिए शहर में करोड़ों रुपए के प्रोजेक्ट पर काम कर रहा है, प्रोजेक्ट के तहत ही स्मार्ट सिस्टम लगाने की तैयारी है। अधिकारियों से मिली जानकारी के अनुसार इसके लिए हाल ही में एक एजेंसी को कार्य भी सौंपा जा चुका है। बताया जा रहा है कि स्मार्ट सिस्टम के तहत लाइनों पर फ्लो मीटर लगेंगे। इससे लाइनों में पानी आपूर्ति की मात्रा और लीकेज का पता लगेगा। 

स्मार्ट सिस्टम लगने के बाद शहर में पानी की बर्बादी नहीं होगी और समय पर पेयजल आपूर्ति हो सकेगी। बता दें कि गुरुग्राम में बहुत सी लाइन में ऐसे हैं जहां लीकेज की शिकायतें आए दिन मिलती रहती हैं बहुत सी लाइने ऐसे ही हैं जहां लेकर का पता बहुत देर से चलता है यह कहे कि 20 प्रतिशत से अधिक पानी का नुकसान लीकेज के कारण हो जाता है, सेक्टर 44 स्थित इंटीग्रेटेड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर से मुख्य पेयजल लाइनों की मानीटरिग की जाएगी। जीएमडीए के अधिकारियों के मुताबिक इस प्रोजेक्ट पर 16 करोड़ रुपये खर्च होंगे। 

बसई और चंदू बुढेड़ा वाटर ट्रीटमेंट प्लांट से शहर में छह मुख्य पेयजल लाइनों से पानी की आपूर्ति होती है। पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर बसई प्लांट से सेक्टर नौ, पांच होते हुए अतुल कटारिया चौक क्षेत्र को जोडऩे वाली मुख्य पेयजल लाइन पर स्मार्ट सिस्टम लगेगा। इस कार्य पर लगभग 1.88 करोड़ रुपये खर्च होंगे। 


Edited By

Manisha rana

Related News