ज्ञानचंद गुप्ता ने चैत्र नवरात्र मेले के आयोजन को लेकर की बैठक, प्लास्टिक कैरीबैग के प्रयोग पर लगाया प्रतिबंध

punjabkesari.in Thursday, Mar 24, 2022 - 08:39 PM (IST)

चंडीगढ़ (धरणी) : हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष श्री ज्ञानचंद गुप्ता ने आज 2 अप्रैल से 10 अप्रैल तक आयोजित होने वाले चैत्र नवरात्र मेले के आयोजन को लेकर माता मनसा देवी पूजा स्थल बोर्ड के बैठक कक्ष में आयोजित बैठक की अध्यक्षता की तथा विभिन्न विभागों के अधिकारियों को 30 मार्च तक सभी आवश्यक तैयारियां पूरी करने के निर्देश दिये। बैठक में उपायुक्त एवं श्री माता मनसा देवी पूजा स्थल बोर्ड के मुख्य प्रशासक श्री महावीर कौशिक, अतिरिक्त उपायुक्त आयूष सिन्हा तथा बोर्ड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री अशोक कुमार बंसल भी उपस्थित थे। 

मेले में प्लास्टिक कैरीबैग के प्रयोग पर हो पूर्ण प्रतिबंध
श्री गुप्ता ने निर्देश दिये कि मेले के दौरान प्लास्टिक कैरीबैग के इस्तेमाल पर पूर्णतः अंकुश लगाने के लिए हरियाणा राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के क्षेत्रीय अधिकारी द्वारा दुकानदारों को जागरूक करने के लिए एक अभियान चलाया जाए। उन्होंने कहा कि अभियान के तहत दुकानदारों को प्लास्टिक कैरीबैग का उपयोग न करने के लिए प्रेरित करें और वर्तमान में पोलिथीन के स्टाॅक के खत्म होने उपरांत नया स्टाॅक न खरीदने की सलाह दें। यदि फिर भी प्लास्टिक कैरीबैग का प्रयोग पाया जाए तो संबंधित दुकानदार का चालान किया जाए। हालांकि उन्होंने कहा कि मकसद चालान करना नहीं बल्कि प्लास्टिक के प्रयोग पर अंकुश लगाना है। उन्होंने कहा कि उन्होंने पंचकूला को स्वच्छ, सुंदर और हरा-भरा बनाने के लिए सात सरोकार दिये हैं जिसमें शहर को पोलिथीन मुक्त बनाना भी शामिल है। श्री गुप्ता ने कहा कि केन्द्र सरकार ने 30 जुलाई 2022 के पश्चात प्लास्टिक कैरीबैग के उत्पादन पर रोक लगा दी है। 

मनसा देवी मंदिर व काली माता मंदिर कालका में निर्बाध बिजली आपूर्ति के लिए अतिरिक्त जैनसैट की करें व्यवस्था
श्री गुप्ता ने निर्देश दिये कि गरमी के मौसम को देखते हुए मेले के दौरान माता मनसा देवी मंदिर व काली माता मंदिर कालका में 24 घंटे बिजली की निर्बाध आपूर्ति सुनिश्चित की जाए। उन्होंने कहा कि बिजली विभाग मंदिर परिसर में बिजली की आवश्यकता का आंकलन करे और अगर आवश्यकता हो तो अतिरिक्त जैनसैट की व्यवस्था की जाए ताकि श्रद्धालुओं को कोई असुविधा न हो। 

लक्ष्मी धर्मशाला में अतिरिक्त डिस्पेंसरी की करी जाए व्यवस्था
श्री गुप्ता ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा मंदिर की लाईब्रेरी में स्थित डिस्पेंसरी के अलावा लक्षमी धर्मशाला में भी एक अतिरिक्त डिस्पेंसरी की व्यवस्था की जाए और वहां शिफ्ट के अनुसार 24 घंटे डाॅक्टरों की टीम की तैनाती की जाए। इसके अलावा मंदिर और डिस्पेंसरी के समीप एक-एक एंबुलेंस का प्रबंध किया जाए ताकि किसी भी आपातकालीन स्थिति में मरीज़ को समय पर अस्पताल पहुंचाया जा सके। उन्होंने यह भी निर्देश दिये कि नागरिक अस्पताल सेक्टर 6 में कम से कम 20 बैड आरक्षित रखें और साथ ही मनीमाजरा स्थित डिस्पेंसरी से भी नियमित संपर्क स्थापित करें। 

दूषित जल से होने वाली बीमारियों की रोकथाम के लिए टंकीयों की उचित साफ-सफाई की जाए सुनिश्चित
उन्होंने जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग को निर्देश दिये कि गरमी के मौसम में दूषित जल से होने वाली बीमारियों की रोकथाम के लिए माता मनसा देवी मंदिर परिसर में लगी सभी पानी की टंकीयों की उचित साफ-सफाई की जाए। इसके अलावा मेले के दौरान  पानी की गुणवत्ता सुनिश्चित करने के लिए प्रतिदिन सुबह और शाम पानी के सैंपल लेकर जांच के लिए भेजे जाएं। इसी प्रकार उन्होंने निर्देश दिये कि खाद्य सुरक्षा अधिकारी लंगर और प्रसाद की गुणवत्ता सुनिश्चित करने के लिए सैंपल लेकर जांच के लिए भेजेंगे। 

अनाबंटित बूथों की भी करवाई जाए साफ-सफाई
श्री गुप्ता ने हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण तथा नगर निगम को सिंह द्वार से लेकर मुख्य मंदिर तक उनके अधिकार क्षेत्र में पड़ने वाली सड़कों की मरम्मत का कार्य 30 मार्च से पूर्व पूरा करने के निर्देश दिये। उन्होंने एचएसवीपी को मंदिर परिसर में अवैध अतिक्रमण को हटाने क लिए की जा रही कार्रवाई को और तेज़ करने व अनाबंटित बूथों की साफ-सफाई करवाने के निर्देश दिये। 

मेले के लिए पुलिस विभाग द्वारा 1100 पुलिस कर्मियों की लगाई गई है डियूटी
बैठक में बताया गया कि मेले को सुचारू रूप से आयोजित करने और बेहतर यातायात व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए पुलिस विभाग द्वारा 1100 पुलिस कर्मियों की डियूटी लगाई गई है, जिसमें से 500 पुलिस कर्मी माता मनसा देवी मंदिर में आयोजित मेले के लिए तैनात किए जाएंगे। पुलिस विभाग द्वारा विभिन्न स्थानों पर 16 नाके लगाए जाएंगे। इसके अलावा पुलिस द्वारा माता मनसा देवी क्षेत्र को चार सेक्टरों में विभाजित किया गया है और प्रत्येक सेक्टर की निगरानी के लिए एक डीएसपी रेंक के अधिकारी की डियूटी लगाई गई है। 

हरियाणा रोडवेज़ द्वारा श्रद्धालुओं को मंदिर तक लाने-लेजाने के लिए प्रयाप्त बसों की, की गई है व्यवस्था
बैठक में बताया गया कि  हरियाणा रोडवेज़ द्वारा श्रद्धालुओं को मंदिर तक लाने-लेजाने के लिए प्रयाप्त बसों की व्यवस्था की गई है। मेले के दौरान जिले के विभिन्न स्थानों से मंदिर आने-जाने के लिए बसें प्रतिदिन 120 चक्कर लगाएंगी और सप्तमी व अष्टमी को अधिक भीड़ होने की दृष्टिगत इनकी संख्या 150 तक बढा दी जाएगी। पहली बार रायपुररानी व बतौड़ से भी दो-दो बसें चलाई जाएंगी। इसके अलावा ज़ीरकपुर से 10 बसें व अंबाला की ओर से आने वाले श्रद्धालुओं के लिए सिंहपुरा बस स्टैंड से 10 बसें चलाई जाएंगी। इसके साथ ही कूहनी साहिब गुरूद्वारा के समीप अंडरपास से मनसा देवी मंदिर तक श्रद्धालुओं को लाने-लेजाने के लिए शटल बस सर्विस की सुविधा भी प्रदान की जाएगी। 

बैठक में माता मनसा देवी पूजा स्थल बोर्ड की सचिव शारदा प्रजापति, काली माता मंदिर कालका के सचिव पृथ्वीराज, एसीपी यातायात राज कुमार, हरियाणा रोडवेज के महाप्रबंधक रविंदर पाठक, लोक निर्माण विभाग (भवन एवं सड़कें) के कार्यकारी अभियंता गौरव जैन, जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग के कार्यकारी अभियंता विकास लाठर, नगर निगम पंचकूला के कार्यकारी अभियंता जसवंत सिंह, डीएफओ मोरनी बी.एस. राघव, प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के क्षेत्रीय अधिकारी विरेन्द्र पुनिया तथा बोर्ड के सदस्यों में श्री अजय शर्मा, कमल सरूप अवस्थी, अमित जिंदल, बलकेश वत्स, हरबंस सिंगला, विशाल सेठ, नरेन्द्र जैन उपस्थित थे। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Manisha rana

Related News

Recommended News

static