मानसिक रुप से परेशान बुजुर्गों ने ट्रेन के आगे कूदकर की आत्महत्या, एक ने लिखा सुसाइड नोट

punjabkesari.in Monday, Mar 30, 2020 - 10:09 AM (IST)

भिवानी (ब्यूरो) : गांव ढाणा लाडनपुर के 55-55 साल के 2 बुजुर्गों ने मानसिक रूप से परेशान होकर माल गाडिय़ों के आगे कूदकर रविवार को आत्महत्या कर ली। इनमें से एक बुजुर्ग ने तो सुसाइड नोट भी लिखा है। पुलिस ने दोनों के शवों का पोस्टमार्टम करा उन्हें परिजनों के हवाले कर दिया। पहले मामले में ढाणा लाडनपुर निवासी सुरेश ने रविवार दोपहर रेवाड़ी से हिसार जा रही एक मालगाड़ी के आगे कूदकर आत्महत्या कर ली।

इसकी सूचना मिलने पर पुलिस ने मौके पर जाकर शव को कब्जे में लेकर उसकी तलाशी ली तो उसकी जेब से एक सुसाइड नोट मिला। उसमें लिखा हुआ है कि वह इस समय आर्थिक संकट से जूझ रहा है। उसके पास इस समय रोटी तो क्या बीडिय़ों के लिए भी पैसे नहीं है। इसलिए इससे परेशान होकर वह आत्महत्या कर रहा है। इस पर पुलिस ने उसके भतीजे ऋषि के बयानों के आधार पर शव का पोस्टमार्टम करा उसे परिजनों के हवाले कर दिया। 

दूसरे ने पुलिस के सामने ही लगाई छलांग 
जिस समय राजकीय रेलवे पुलिस सुरेश के शव को कब्जे में लेने के लिए गई उसी समय हिसार से रेवाड़ी की ओर एक मालगाड़ी जा रही थी उसी समय गांव का मामराज नामक बुजुर्ग मालगाड़ी के सामने कूदने के लिए आ गया। हालांकि उसको ऐसा करने से रोकने के लिए पुलिस और गांव के लोगों ने आवाज भी लगाई।

मगर मामराज ने उनकी बातों को अनसुना करते हुए मालगाड़ी के आगे छलांग लगा ही दी। इस पर पुलिस ने उसके शव को भी कब्जे में ले उसके भांजे सुरेश के बयान लेकर उसके भी शव का पोस्टमार्टम करा उसे परिजनों के हवाले कर दिया। इस बारे में सुरेश ने बताया कि उसका मामा इन दिनों मानसिक रूप से बीमार चल रहा था। इसलिए उन्होंने यह कदम उठाया है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Isha

Related News

Recommended News

static