फर्जी रजिस्ट्रेशन का मामला: एम.आर.सी. जगाधरी एक बार फिर 5 दिन के पुलिस रिमांड पर

punjabkesari.in Friday, Feb 19, 2021 - 11:28 AM (IST)

यमुनानगर (सुमित) : गुरुवार को 5 दिन के पुलिस रिमांड पर चल रहे एम.आर.सी. जगाधरी राजेंद्र को कोर्ट में पेश किया गया। एस.आई.टी. ने रिकार्ड से फाईल लेने, पैसों की रिकवरी करने व मुख्य आरोपी अमित के आमने सामने पूछताछ करने के लिए कोर्ट से 5 दिन का अतिरिक्त रिमांड मांगा। कोर्ट ने रिमांड को मंजूर कर लिया। अब एस.आई.टी. उससे पूछताछ कर रही है। उधर, सिरसा एस.आई.टी. ने स्थानीय व उनके नामजद अमित को कोर्ट में पेश किया। इस दौरान स्थानीय एस.आई.टी. सिरसा कोर्ट पहुंची थी। एस.आई.टी. उसे प्रोडॅक्शन रिमांड पर लेने पहुंची है।

माना जा रहा है कि जब राजेंद्र व अमित आमने सामने होंगे तो पूरा मामला खुल जाएगा। बता दें पूर्व के 5 दिन के रिमांड में एम.आर.सी. जगाधरी से करीब 1 लाख रूपए की रिकवरी की गई है। उसकी मार्फत काफी संख्या में फाईलें भी बरामद की गई है। जांच में सामने आया कि नामजद लोग एक विशेष तरह के स्लैब को प्रयोग कर आर.सी. बनाते थे क्यूंकि इस स्लैब में एन.ओ.सी. की जरूरत नहीं।

बता दें रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया की अलग अलग स्लैब हैं। मसलन नई, पुरानी व एन.ओ.सी. सहित अन्य। नामजद लोग इंजन, चैसी नंबर के साथ साथ बिल की वैल्यू को भी कम कर फर्जीवाड़ा करते थे। उधर एस.आई.टी. सिरसा हैड डी.एस.पी. कुलदीप बैनीवाल ने बताया कि आरोपी अमित से पूर्व में लिए गए रिमांड पर 22 लाख रूपए रिकवर किए गए थे। जब दूसरी बार रिमांड लिया तो उसने 3 लाख रिकवर करवाए। कुल 25 लाख की रिकवरी हुई है। उन्होंने बताया कि आरोपी अमित ने कई बड़े नामों का खुलासा किया है। जिनमें कर्मचारी व अधिकारी शामिल हैं। अभी उनकी जांच जारी है। स्थानीय एस.आई.टी. मैंबर सिटी एस.एच.ओ. सुखबीर सिंह ने बताया कि राजेंद्र से पूछताछ की जा रही है। अमित के आने पर और कई खुलासे हो सकते हैं। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Isha

Related News

Recommended News

static