टैक्स को लेकर अधिकारियों की बैठक, बड़े प्रोपर्टी डिफॉल्टरों पर की जाएगी कड़ी कार्रवाई

1/14/2020 12:28:54 PM

गुडग़ांव (ब्यूरो) : नगर निगम गुरुग्राम के आयुक्त विनय प्रताप सिंह ने सोमवार को प्रोपर्टी टैक्स कार्य की समीक्षा के दौरान अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे बड़े प्रोपर्टी टैक्स डिफॉल्टरों की प्रोपर्टीज को नियमानुसार सील, अटैच और नीलाम करने की कार्रवाई करें। निगमायुक्त ने कहा कि सभी जोनल टैक्सेशन ऑफिसर 20 लाख रुपए और उससे अधिक तथा 10 लाख से 20 लाख रुपए तक के प्रोपर्टी टैक्स डिफॉल्टरों की सूची तैयार करके कार्रवाई शुरु करें। 

उन्होंने कहा कि कार्रवाई के दौरान किसी भी प्रकार के दबाव में ना आएं। बैठक में बताया गया कि जोन-1 में 20 लाख रुपए व इससे उपर की 27 संपत्तियां हैं, जिनमें से नोटिस देने उपरान्त 3 संपत्ति मालिकों ने प्रोपर्टी टैक्स जमा करवा दिया है। जोन-2 क्षेत्र में 87 प्रोपर्टीज हैं तथा जोन-3 क्षेत्र में 66 प्रोपर्टीज में से 10 ने प्रोपर्टी टैक्स जमा करवा दिया है। इसके साथ ही जोन-4 क्षेत्र मे 73 प्रोपर्टीज हैं। इन प्रोपर्टी मालिकों को नोटिस जारी कर दिए हैं तथा आगामी कार्रवाई की जा रही है।

निगमायुक्त ने अधिकारियों से यह भी कहा कि उनके यहां जिन संपत्ति मालिकों ने प्रोपर्टी टैक्स से संबंधित आपत्तियां दर्ज करवाई हुई हैं, उनका निपटारा तत्परता से करें। निगमायुक्त ने कहा कि हरियाणा सरकार द्वारा जारी अधिसूचना के तहत नगर निगम गुरूग्राम द्वारा 31 जनवरी तक संपत्तिकर की अदायगी करने वालों को संपूर्ण ब्याज माफी तथा मौजूदा वित्त वर्ष के संपत्तिकर में 10 प्रतिशत की छूट का लाभ दे रहा है। जिन संपत्ति मालिकों ने अभी तक संपत्तिकर की अदायगी नहीं की है, वे 31 जनवरी से पूर्व करके इस योजना का लाभ उठाएं। 


Isha

Related News