देश की सबसे बड़े गोत्र गठवाला खाप की पंचायत में फैसला, किसानों को समर्थन देने को लेकर एक मत

12/3/2020 4:01:16 PM

गोहाना(सुनील): आज गोहाना के गांव छिछड़ाना में देश की सबसे बड़े गोत्र गठवाला खाप की पंचायत हुई। इस पंचायत का मुख्य एजेंडा तीन कृषि कानूनों के विरोध में धरना दे रहे किसानों को समर्थन था। आज की गठवाला खाप के प्रधान कुलदीप मलिक की अध्यक्षता में   बैठक हुई जिसमें गठवाला खाप के तमाम पदाधिकारी मौजूद थे। सर्व सहमति से फैसला लिया गया कि अगर आज सरकार और किसान सगठनों के बीच कोई बात नहीं बनती है तो कल गठवाला खाप के सभी लोग दिल्ली के सिंघु बॉर्डर पर किसानों के धरने के वहाँ जा कर समर्थन करेंगे।

हरियाणा की खापें किसानों को समर्थन को लेकर आगे आई है जहां सरकार की मुश्किलें बढ़ती ही जा रही है। वहीं सांगवान खाप के प्रधान व दादरी से निर्दलीय विधायक ने खापों के किसानों को समर्थन देने के बाद हरियाणा पशुधन विभाग के चेयरमैन से इस्तीफा ही नहीं दिया बल्कि अपना सर्मथन भी सरकार को पत्र लिख ले लिया है  वहीं खापों ने खट्टर सरकार को गिराने की मुहिम चलाने का भी फैसला लिया है।  

गठवाला खाप के राष्टीय प्रधान कुलदीप मलिक व अशोक मलिक महासचिव में बताया कि गठवाला खाप (मलिक) की तरफ से आज तमाम मलिक खाप के पदाधिकारियों की पंचायत हुई है। इस पंचायत में यह फैसला लिया है आज किसान सगठनों की सरकार से बातचीत  सफल नही होती है  सरकार अपनी हठधर्मिता नही छोड़ती है तो कल से गठवाला खाप दिल्ली के सिंघु बॉर्डर पर जाकर पंडाल लगाएगी और किसानों के खाने पीने और सोने की व्यवस्था की जाएगी। उसके लिए फिर कितने दिन लग जाये वे वहाँ पर रहेगी  अशोक मलिक ने कहा इससे पहले भी कई खापों ने फैसला लिया है की किसानो का खुल कर समर्थन करेगी गठवाला खाप भी अब पीछे हटने वाली नहीं है इसके इलावा जितने भी निर्दलय विधायक है उनके पास जाकर भी खाप के प्रतिनिधि जायेगे और सरकार से अपना समर्थन वापस लेने की मांग रखेंगे इसके साथ साथ पदेश के डिप्टी सीएम से भी उनकी खाप के प्रतिनिधि मिलेगी की सरकार से बात  कर किसानो का समर्थन करे 


Isha

Related News