मुआवजे की मांग को लेकर पुलिस और किसानों में धक्का मुक्की

punjabkesari.in Wednesday, Nov 24, 2021 - 11:43 AM (IST)

सिरसा(सतनाम): भारतमाला परियोजना के तहत अधिकृत की गई भूमि के उचित मुआवजे की मांग को लेकर आज 9 गांव के किसानों की ओर से राष्ट्रीय राजमार्ग के अधिकारियों का विरोध किया गया।  किसानों ने हरियाणा सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। किसानों के विरोध प्रदर्शन को देखते हुए भारी संख्या में पुलिस दलबल तैनात किया गया हालाँकि कुछ किसानों ने राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के अधिकारियों के कामकाज में दखल डाला तो मुख्य किसान नेता राकेश भगोरिया को हिरासत में ले लिया। इसके बाद किसानों की ओर से एसडीएम कार्यालय का घेराव कर रिहाई की मांग रखी गई जिसके बाद हिरासत में लिए गए किसानों को रिहा कर दिया गया। 

बता दें कि अमृतसर से जामनगर नेशनल हाईवे में डबवाली मंडल के 9 गांव की करीब साडे 700 एकड़ भूमि अधिकृत की गई है जिसमें किसानों की ओर से लगातार भारतमाला संघर्ष समिति के बैनर तले मार्केट रेट से 4 गुना ज्यादा मुआवजा दिए जाने की मांग की जा रही है इसके अतिरिक्त हाइवे में अधिकृत की गई भूमि में मकानों की अव्वल पेड़ों के भी मार्केट रेट से 4 गुना मुआवजा दिए जाने की मांग है तथा इसके साथ ही हाइवे के दोनों और लिंक रोड बनाए जाने तथा पक्के रास्ते वह काल निर्माण की मांगे रखी गई है। 

किसानों ने कहा कि राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के अधिकारियों ने भारी पुलिस दलबल के सहयोग से कब्ज़ा लेने का प्रयास किया तो किसानों ने पुलिस का डटकर विरोध किया।  उन्होंने कहा कि पुलिस ने किसानों के साथ दुर्व्यवहार किया है उनके कपडे तक फाड़ दिए है। उन्होंने कहा कि किसानों की मांग है कि मार्किट रेट से 4 गुना ज्यादा क्सीजनों को मुआवजा दिया जाए। उन्होंने कहा कि जब तक किसानों को उचित मुआवजा नहीं दिया जाता तब तक किसानों का विरोध प्रदर्शन जारी रहेगा। 

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Isha

Related News

Recommended News

static