पुलिस ने कोलकाता से नेपाली युवक-युवतियों को करवाया रिहा, USA भेजने के नाम पर बनाया था बंधक, 8 आरोपी काबू

punjabkesari.in Sunday, Nov 27, 2022 - 08:36 AM (IST)

कैथल (सुखविंद्र) : कैथल पुलिस ने युवाओं को विदेश भेजने के नाम पर किडनैप करने और परिवार से लाखों की फिरौती मांगने वाले अंतर राज्य गिरोह का भंडाफोड़ किया। इस मामले में पुलिस ने कोलकाता से आठ आरोपियों को गिरफ्तार किया। साथ ही उनके चंगुल से नेपाल के रहने वाले आठ नेपाली युवक-युवतियों को रिहा करवाया है। इनमें 2 युवतियां व 6 युवक थे जिन्हें यू.एस.ए. भेजने के लिए एजैंट ने बुलाया था लेकिन उन्हें यू.एस.ए. भेजने की बजाय कोलकाता में बंधक बनाकर रखा। एजैंट व उसके गुर्गे मारपीट करके इनके परिवार के सदस्यों से करीब 1 करोड़ रुपए से अधिक नेपाली करंसी वसूल कर चुके थे। 

कैथल एस.पी. मकसूद अहमद ने बताया कि इससे पहले कैथल के गांव बाकल के विक्रम व गुजरात के युवक अंकित को कैथल सी.आई.ए.-1 की टीम मुंबई में  गिरोह के सदस्यों से रिहा करवा चुके है। उस समय कैथल पुलिस ने गिरोह से जुड़े 5 लोगों को गिरफ्तार किया था। इनमें मुंबई निवासी मुख्य आरोपी अब्दुल करीब रहमान कुरैशी उर्फ देसाई ने रिमांड दौरान बताया था कि इस गिरोह को चलाने वाला मुख्य आरोपी मुम्बई का ही सुनील केजरीवाल है। 

पुलिस आरोपी देसाई को लेकर कोलकाता पहुंची थी जहां से कोलकाता पुलिस की मदद से आठ आरोपियों को हिरासत में लिया जिनमें से 2 आरोपी कोलकाता से प्रवीण उपाध्याय, मोहम्मद हुसैन, 1 आरोपी शामली (यू.पी.) से अनिल और 5 आरोपी करनाल से रवि कुमार निवासी चासमंद, प्रिन्स निवासी गांव रिंडल, पंकज उर्फ राका निवासी गांव रावर, मोहित कुमार निवासी गांव नंगला, संजीव कुमार निवासी गांव रावर हैं। वहीं मुख्य सरगना सुनील केजरीवाल फरार है। एस.पी. ने बताया कि कैथल पुलिस ने वहां बंधक बनाए गए आठ नेपाली युवक-युवतियों को रिहा करवाया है।

पुलिस आरोपियों व नेपाली युवक-युवतियों को लेकर कैथल पहुंची है जहां पर उनके परिजनों को सूचित कर दिया है। रिहा युवकों ने कहा कि वे बचने की आस छोड़ चुके थे। एस.पी. ने बताया कि इस गिरोह का सरगना सुनील केजरीवाल है और उसका नैटवर्क हरियाणा, गुजरात, दिल्ली, यू.पी., पंजाब, कोची, हैदराबाद, मुम्बई, गुवाहटी, आसाम में फैला हुआ है। अब तक की पूछताछ में पता चला है कि वे 30 से 35 युवकों को इस प्रकार बंधक बनाकर उनके परिजनों से करोड़ों रुपए एंठ चुके हैं।

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)  


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Manisha rana

Related News

Recommended News

static