मोतीलाल नेहरू स्पोर्ट्स स्कूल के प्रिंसिपल पर गिरी सस्पेंशन की तलवार, घोटाले के लगे आरोप

punjabkesari.in Friday, Jun 24, 2022 - 08:51 PM (IST)

सोनीपत(सन्नी): राई स्थित मोतीलाल नेहरू स्पोर्ट्स स्कूल के प्रिंसिपल कर्नल अशोक मोर को सस्पेंड कर दिया गया है। स्पोर्ट्स स्कूल में चल रहे घोटाले को लेकर प्रिंसिपल पर सरकार की गाज गिरी है। कर्नल अशोक मोर पर स्पोर्ट्स स्कूल में घोटाले करने के आरोप लगे हैं। उनकी जगह खेल विभाग के निदेशक व आईपीएस पंकज नैन को स्पोर्ट्स स्कूल के प्राध्यापक का अतिरिक्त प्रभार सौंपा गया है। फिलहाल कर्नल मोर के खिलाफ आर्थिक अनिमितताओं के आरोपों की जांच की जा रही है।

PunjabKesari

हरियाणा सरकार के खेल मंत्रालय द्वारा जारी एक लेटर के अनुसार, हरियाणा के राज्यपाल ने कर्नल अशोक मोर को मोतीलाल नेहरू स्पोर्ट्स स्कूल के प्रिंसिपल और डायरेक्टर के पद से बर्खास्त किया जा रहा है। हरियाणा सिविल सर्विसिस रूल्स 2016 के रूल-5 के अनुसार उन पर यह कार्रवाई की जा रही है। सस्पेंशन पीरियड के दौरान उनका हेडक्वार्टर पंचकूला में होगा। इसी के साथ उन्हें बिना इजाजत शहर से बाहर जाने की इजाजत नहीं होगी।

कर्नल मोर पर लगे आरोपों की जांच करेगी सात सदस्यीय कमेटी

एमएनएसएस राई के तत्कालीन प्रिंसीपल-निदेशक कर्नल मोर के विरूद्घ शिकायत मिलने पर सरकार ने एक सात सदस्यीय कमेटी का गठन किया है। गठित कमेटी के चेयरमैन के रूप में खेल एवं युवा मामले विभाग के प्रशासकीय सचिव को शामिल किया गया है, जबकि अन्य सदस्यों में खेल एवं युवा मामले विभाग हरियाणा के निदेशक, उपायुक्त सोनीपत, वित्त विभाग हरियाणा के उप-सचिव, उपमंडल अधिकारी (ना.) सोनीपत, खेल एवं युवा मामले विभाग के संयुक्त निदेशक (प्रशासन) और खेल एवं युवा मामले विभाग के मुख्य लेखा अधिकारी को शामिल किया गया।

जानकारी के अनुसार कमेटी को तत्कालीन प्रिंसीपल-निदेशक कर्नल मोर के कार्यकाल सितंबर-2021 से अगस्त-2021 के मध्य अकुशल कर्मियों की भर्ती के चलते आर्थिक अनियमितताओं की जांच की जिम्मेदारी दी गई। साथ ही उन पर आरोप है कि बिना अधिकृत अनुमति के उन्होंने कूटेशन आमंत्रित की और अपने स्वयं के फोटो के साथ समाचार पत्रों में विज्ञापन भी प्रकाशित करवाया। गठित कमेटी ने इस मामले में जांच की है। इस मामले में सरकार की ओर से उच्च स्तर पर जांच करवाई जा रही है।

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vivek Rai

Related News

Recommended News

static