सावन का आज पहला सोमवार, बोल बम के जयकारे के साथ शिवलिंग पर जल चढ़ाने पहुंचे शिवभक्त

7/6/2020 1:29:33 PM

डेस्क: आज से सावन मास और भगवान शिव की आराधना का महोत्सव शुरू हो गया है। वैसे तो प्रत्येक सोमवार भगवान शिव की उपासना के लिए उपयुक्त माना जाता है लेकिन सावन के सोमवार की अपनी अलग महत्ता है। सावन माह भगवान शिव की उपासना का माह माना जाता है। जो आज सोमवार के दिन से शुरू हो रहा है। कोरोना के चलते इस बार मंदिरों में इतनी रौनक नही हैं, पर फिर भी सुबह से श्रद्धालु मंदिरों में आकर शिवालय पर जल चढ़ा रहे हैं।

PunjabKesari, haryana

यमुनानगर (सुमित): यमुनागर में आज सुबह श्रद्धालु जल चढ़ाने के लिए शिवालयों में पहुंचे। हालांकि पहले की तरह मंदिरों में भक्तों की रौनक नहीं दिखी। पुजारी पंडित शारदा प्रसाद मिश्र ने बताया कि मंदिर में कोरोना के चलते कम ही श्रद्धालु आ रहे हैं। मंदिर में थर्मल स्कैनिंग से लेकर सैनिटाइजर का ध्यान रखा जा रहा।

उन्होंने कहा क सोशल डिस्टेंसिंग भी बनी रहे उसके लिए मार्किंग भी की गई है। वहीं शिवालय पर जल चढ़ाने जो श्रद्धालु आ रहे है उसमें ये खास ध्यान रखा जा रहा है कि जब एक श्रद्धालु जल चढ़ा ले तभी दूसरा श्रद्धालु आए। पुजारी ने कहा कि आज उन्होंने पूजा अर्चना कर यही प्रार्थना की है कि भगवान शिव इस कोरोना वैश्विक महामारी का खात्मा करे और जल्द ही सब कुछ पहले जैसा हो। उन्हों कहा कि कम से कम ही श्रद्धालु मन्दिर आए, घर पर ही भगवान शिव की पूजा अर्चना करें।

PunjabKesari, haryana

भिवानी (अशोक): भिवानी हनुमान ढाणी स्थित हनुमान जोहड़ी मंदिर धाम में श्रावण मास के पहले सोमवार पर आज भगवान शिव दरबार में शिवलिंग पर गंगाजल एवं दूध व जल से स्नान करवाया गया। सुबह से ही कोविड-19 के चलते संत महात्माओं व श्रद्धालुओं ने भगवान शिव की आराधना मास्क पहनकर की।

वहीं इस अवसर पर सामाजिक संस्था युवा जागृति एवं जन कल्याण मिशन ट्रस्ट व नेता जी सुभाष चन्द्र बोस युवा जागृत सेवा समिति द्वारा कोविड-19 महामारी के प्रति जागरूक भी किया गया। मंदिर के चारों तरफ दीवारों पर सामाजिक दूरी बनाने, मास्क पहनने व सैनिटाइजर, डेटॉल और साबुन से हाथ धोने के लिए होर्डिंग व पोस्टर आदि भी चस्पाए गए। यही नहीं इस अवसर पर गंगा को स्वच्छ बनाने, पानी बचाने व पर्यावरण को सुरक्षित रखने का भी संदेश दिया गया।

PunjabKesari, haryana

अंबाला (अमन कपूर): प्राचीन शिव मंदिर हाथीखाना में भगवान शिव के दर्शन और जल चढ़ाने के लिए भक्त पहुंच रहे हैं। सावन में शिव भक्त मंदिर में अपनी मनोकामना पूरी करने का संकल्प लेते हैं। लोग सुबह 4 बजे से नंगे पांव मंदिर आकर भोले बाबा का जलाभिषेक करते हैं। हालांकि कोरोना महामारी में हुए लॉकडाउन के बाद सरकार की कुछ शर्तों पर ही मंदिर खुले हैं, जिसका भक्तजन व मंदिर प्रशासन पूरा पालन कर रहे है। 

मंदिर में आए भक्तों ने बताया कि वे कई सालों से इस प्राचीन हाथीखाना शिव मंदिर में आ रहे है और इस मंदिर में सभी मनोकामनाएं पूरी होती हैं। मंदिर पहुंची महिलाओं ने बताया कि महादेव तो वैसे भी भोले हैं और सावन माह में तो खासकर महादेव मनोकामनाएं पूरी करते हैं।

PunjabKesari, haryana

होडल (हरिओम भारद्वाज): आज से सावन मास शुरु हो गया है। सावन मास के पहले सोमवार के दिन मंदिरो में शिव भक्तों का तांता लगा रहा। भक्तों ने पूजा अर्चना कर भगवान शिव को प्रसन्न कर सुखशांति के लिए वरदान मांगा।

पलवल (दिनेश कुमार): पलवल के अति प्राचीन शिव मंदिर के स्वयंभू शिवलिंग को सावन के पहले सोमवार को भक्तों की पहुंच से  रखा दूर गया। मंदिर में जाने वाले शिव भक्तों को मंदिर के पुजारी तथा मैनेजमेंट कमेटी की ओर से दूर से ही दर्शन करने की अनुमति दी हुई है। लगभग चार सौ वर्ष पुराने मंदिर के तीनों गेटों पर तखत लगाकर शिवालय के अंदर प्रवेश पर रोक लगाई हुई है। 


Edited By

vinod kumar

Related News