दहेज के लोभियों ने नवविवाहिता को लाठी-डंडों से पीट पीटकर मार डाला, 2 साल पहले हुई थी शादी

punjabkesari.in Thursday, May 05, 2022 - 11:20 AM (IST)

फरीदाबाद : शहर में एक बार फिर से दहेज के लिए ससुराल वालों ने नवविवाहिता को लाठी-डंडों से पीट पीटकर मार दिया गया। अब मृतक के पिता का रो-रोकर बुरा हाल है। मृतका की पहचान उत्तरप्रदेश के जिला अलीगढ़, तहसील खैर गांव राजपुर निवासी रूबीना पुत्री शरीफ के रूप में हुई है। मृतका के पिता ने फरीदाबाद के आईएमटी बल्लभगढ़ सदर थाने में अपने दामाद और समधी के खिलाफ उनकी बेटी को दहेज के लिए प्रताड़ित करने व उसकी हत्या करने का मुकदमा दर्ज कराया है। 

पुलिस के अनुसार मृतका रूबीना के पिता शरीफ ने बताया कि उसने दो साल पहले अपनी बेटी रूबीना का निकाह उत्तरप्रदेश के जिला बुलंदशहर, तहसील खुर्जा गांव मीरपुर निवासी अल्लाह मेहर के बेटे सलमान से दो साल पहले किया था। निकाह में हैसियत के हिसाब से उसने पूरा दान-दहेज दिया। शादी के छह माह बाद ही सलमान नौकरी के लिए फरीदाबाद के मिर्जापुर चंदावली आईएमटी बल्लभगढ़ सदर थाना क्षेत्र में आकर किराए के मकान में रहने लगा। जहां आए दिन सलमान और उसका पिता अल्लाह मेहर रूबीना को ज्यादा दहेज लाने के लिए प्रताडि़त करने लगे और मारपीट करते थे। रूबीना की 7 माह की बच्ची भी है।

पड़ोसियों ने परिवार वालों को बताया कि ईद से एक दिन पहले 2 मई की सुबह 8 बजे सलमान और उसके पिता अल्लाह मेहर ने रूबीना को लाठी-डंडों से बूरी तरह से पीट दिया। जिससे उसके सिर में गंभीर चोटें लगी और उसके मुंह से खून निकलने लगा। रूबीना बेहोश होकर वहीं गिर पड़ी। जिसके बाद पड़ोसियों ने रूबीना को अस्पताल पहुंचाया और उसके पीहर वालों को सूचना दी। जिसके बाद बीके अस्पताल में चिकित्सकों ने रूबीना का मेडिकल मुआयना कर उसे मृत घोषित कर दिया और शव को पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया। दूसरे दिन ईद की छूट्टी होने की वजह से घरवाले पोस्टमार्टम को तरसते रहे। मृतका के पिता शरीफ ने रूबीना के ससुराल वालों पर दहेज के लिए प्रताडि़त कर हत्या करने का मामला दर्ज करवाया है। पुलिस ने बुधवार को परिजनों की रिपोर्ट पति व ससुर के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी।

नशे के इंजेक्शन भी लेता है आरोपी पति  
मृतका के पिता शरीफ ने अपने दामाद पर आरोप लगाया कि रूबीना ने फोन पर उन्हें बताया था कि सलमान शराब पीता है और नशे के इंजेक्शन भी लेता है। जिसके चलते उसने नौकरी छोड़ दी थी और पीने के लिए पैसे लाने की मांग करता था। रूबीना उसे रोकती तो समलान उसके साथ मारपीट करता और दहेज मांगता था। मृतका के परिजनों ने पुलिस पर भी आरोप लगाया कि पुलिस ने उनकी एफआईआर लिखने में कोताही बरती है और गुमराह करती रही। जब रूबीना ने अस्पताल में दम तोड़ दिया उसके बाद ही उसके एक दिन बाद भी रिपोर्ट दर्ज की गई है। पिता को रह-रहकर बेटी की याद सता रही है कि आरोपियों ने उसे ईद तक नहीं मनाने दी उससे पहले ही उसकी हत्या कर दी।  

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Manisha rana

Related News

Recommended News

static