50 किलो से अधिक कचरा निकालने वाले हों सावधान!

10/12/2021 10:11:37 AM

फरीदाबाद (दीपक पांडेय): शहर में 50 किलो से अधिक कचरा निकालने वाले संस्थान सावधान हो जाए। नगर निगम आयुक्त की ओर से जारी आदेश के अनुसार 50 किलो से अधिक बल्क वेस्ट निकालने वाले संस्थानों को निस्तारण मशीन लगानी होगी। वहीं अगर वह मशीन लगाने में सक्षम नहीं है तो उनको किसी प्राइवेट एजेंसी से एमओयू साइन करना होगा। ताकि प्रतिदिन एजेंसी के कर्मचारी बल्ड वेस्ट ले जाकर उनका निस्तारण कर सके। वहीं सफाई निरीक्षकों की भी ड्यूटी लगा दी है कि वह अपने अपने एरिया में चलने वाले संस्थानों की लिस्ट बनाए कि कहां से कितना बल्क वेस्ट निकलता है। बल्क वेस्ट को लेकर नगर निगम अतिरिक्त आयुक्त की ओर से एसओपी भी जारी की गई है। 

14 अक्टूबर से पहले सफाई निरीक्षक बनाएंगे सूची 
एसओपी के अनुसार सभी सफाई निरीक्षकों को अपने एरिया में चलने वाले कर्मिशयल संस्थानों की सूची बनाने का आदेश दिया गया है। उनके एरिया में कितने होटल, कितने रेस्टोरेंट चल रहे है। उनसे कितना बल्क वेस्ट जनरेट होता है। सूची बनाने के बाद 50 किलो से अधिक बल्क वेस्ट जनरेट करने वाले संस्थानों को नोटिस जारी किए जाएंगे। वहीं सात दिन में इन सभी संस्थानों से कचरा निस्तारण को लेकर जवाब मांगा जाएगा। 

खुद मशीन लगाए या किसी निजी एंजेसी से करे एमओयू साइन 
नगर निगम के अतिरिक्त आयुक्त इंद्रजीत ने बताया कि  50 किलो से अधिक बल्क वेस्ट जनरेट करने वाले संस्थानों की सूची बनाई जा रही है। इसके बाद उनको नोटिस जारी किया जाएगा कि या तो वह निस्तारण की मशीन लगा ले। अगर वह किसी वजह से मशीन नहीं लगा सकते है तो निजी एजेंसी से एमओयू साइन करे। ताकि उनके कचरे का सही से निस्तारण हो सके। अगर कोई निस्तारण नहीं करता है तो उसको नोटिस देकर जुर्माना भी वसूला जाए। 

दो हजार बल्क वेस्ट पैदा करने वाले को निगम ने जारी किए थे नोटिस
नगर निगम ने इससे पहले भी बल्क वेस्ट पैदा करने वालों को नोटिस जारी किए थे। हालांकि नोटिस को लेकर 200 संस्थानों ने ही निगम को जवाब दिया। इसके बावजूद नगर निगम जवाब न देने वाले संस्थानों के खिलाफ कार्रवाई नहीं कर पाया है। फरीदाबाद बल्क वेस्ट जनरेटर को लेकर काफी पीछे है।  शहर के अंदर लगभग 1 हजार से भी ज्यादा कमर्शल गतिविधियां ऐसी है, जिनके यहां पर हर रोज बल्क वेस्ट निकलता है। ये अपना कूड़ा किस जगह पर जाकर फेंकते हैं इसके बारे में नगर निगम को कुछ नहीं पता। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Isha

Related News

Recommended News

static