ट्रांसलेटर करता था फर्जी सिम का धंधा, सीएम फ्लाइंग ने पकड़ा

punjabkesari.in Wednesday, May 18, 2022 - 04:26 PM (IST)

गुड़गांव, (पवन कुमार सेठी): नामी अस्पताल का ट्रांसलेटर फर्जी आईडी पर सिम बेचने का गोरखधंधा करता था। सीएम फ्लाइंग ने सूचना के आधार पर छापा मारकर आरोपी को पकड़ा है। अस्पताल में इलाज के लिए आने वाले विदेशियों को यह ट्रांसलेटर प्री एक्टिवेटड सिम उपलब्ध कराता था। सुशांत लोक थाना पुलिस ने केस दर्ज कर आरोपी के कब्जे से करीब 1.40 लाख रुपए समेत अमेरिकी डॉलर बरामद किए हैं। पुलिस आराेपी से पूछताछ कर रही है।

 

सीएम फ्लाइंग को सूचना मिली थी कि हुडा सिटी मेट्रो स्टेशन के पास स्थित नामी अस्पताल का कर्मी विदेशियों को पहले से चालू की गई सिम 1500 रुपए में बेचता है। इस पर सीएम फ्लाइंग ने सुशांत लोक थाना पुलिस के साथ मिलकर टीम तैयार की और मौके पर छापा मारा। इस दौरान टीम ने अस्पताल के ट्रांसलेटर को तीन प्री एक्टिवेटेड सिम के साथ पकड़ा। पूछताछ में आरोपी की पहचान उत्तर प्रदेश निवासी यारूण के रूप में हुई। आरोपी के कब्जे से पुलिस ने करीब 1.40 लाख रुपए समेत 100-100 के 9 व 50-50 के 2 अमेरिकी डॉलर मिले। आरोपी के कब्जे से अस्पताल का आईडी कार्ड भी मिला है। आरोपी ने बताया कि वह अलहयात कंपनी की तरफ से अस्पताल में नौकरी करता है। वह अस्पताल में आने वाले विदेशियों को मेडिकल सुविधाएं उपलब्ध कराने में मदद करता है। डिमांड करने पर उन्हें मोबाइल सिम भी उपलब्ध कराता है।

 

सुशांत लोक थाना प्रभारी इंस्पेक्टर पूनम हुड्डा ने बताया कि वह सिम देने का कार्य दिल्ली के शाहीन बाग निवासी तरवेज खान के साथ मिलकर करता है। तरवेज खान गुरुग्राम में ही रहता है और विदेशियों को डॉलर एक्सचेंज भी करके देता है। उसके जरिए यह प्री एक्टिवेटेड सिम दिल्ली से सोहेल खान के जरिए उपलब्ध कराई जाती है। पिछले छह महीनों में वह 300 से 400 विदेशियों को सिम उपलब्ध करा चुका है। उन्होंने बताया कि आरोपी से पूछताछ की जा रही है। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Pawan Kumar Sethi

Related News

Recommended News

static