एयरफोर्स के जवान पर फायरिंग करने वाले दो आरोपी गिरफ्तार, ये था पूरा मामला

10/23/2020 4:10:25 PM

गुरुग्राम (मोहित कुमार): भारतीय वायु सेना के एक अधिकारी पर ताबड़तोड़ फायरिंग करने के मामले में गुरुग्राम पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। ये दोनों आरोपी गुरुग्राम के राजीव चौक इलाके से काबू किए गए। इन्होंने बीती 21 अक्टूबर को एयरफोर्स कर्मी पर फायरिंग की थी। 

इस पूरे मामले में गुरुग्राम पुलिस ने खुलासा किया है कि पीड़ित दीपक धनखड़ को उनके दोस्त महिपाल और ओमप्रकाश ने नवीन, विजेंद्र सैनी, विकास और राम ज्वारी नाम के व्यक्ति से कुंडली इलाके में मिलवाया था, जहां पर एक्सप्रेस गोल्ड ट्रेडिंग कंपनी में इसने 400000 रुपये नगद ओम प्रकाश को और 12 लाख 30000 रुपये खाते में नवीन को दिए थे। 

इस पूरे एग्रीमेंट के करार के हिसाब से दीपक धनखड़ की पत्नी के खाते में किश्तें आनी थी, मगर दो किस्त आने के बाद खाते में कोई भी पैसा नहीं आया। जिसके बाद दीपक धनखड़ ने अपने दोस्त ओम प्रकाश से बात की और कहा कि मुझे अपने पैसे वापस चाहिए। जिसके बाद यह पूरी कहानी कुछ और ही रूप ले लेती है।

PunjabKesari, haryana

खिलाने पिलाने के बाद मौत के घाट उतारने का बनाया था प्लान
दीपक द्वारा पैसे मांगे जाने के बाद गिरफ्तार दो आरोपियों और उनके कुछ साथियों ने प्लान बनाया कि दीपक को बुलाते हैं, उसे खिलाएंगे पिलाएंगे और मौका देख कर मौत के घाट उतार देंगे। एयरफोर्स अधिकारी दीपक इनके चंगुल में फंस गया, इन अपराधियों द्वारा बुलाए जाने पर वह अपने दोस्तों के साथ सिकंदरपुर मेट्रो स्टेशन पहुंचता है। वहां से इनके साथ बैठकर दिल्ली चला गया, वहां जाकर इन्होंने पार्टी की और फिर वापस गुरुग्राम आ गए। एयरफोर्स अधिकारी को यह नहीं पता था कि जिस फार्म हाउस में वह जाने वाला है वहां पर उसका और उसके दोस्तों का कोई पहले से ही शार्प शूटर घात लगाए इंतजार कर रहा है।

गाड़ी से उतरते ही कर दी थी फायरिंग
एयरफोर्स का अधिकारी जब अपने दोस्तों के साथ गाड़ी लेकर हीरो होंडा चौक के पास बने फार्म हाउस पर पहुंचा तो गिरफ्तार आरोपियों ने दीपक को गाड़ी से उतरने को कहा, इस दौरान जैसे दीपक गाड़ी से उतरा उसके ऊपर ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी गई। मगर गनीमत यह रही कि फायरिंग के दौरान एयरफोर्स अधिकारी और उसके दोस्तों को गोली नहीं लग पाई और वह वहां से अपनी गाड़ी ले भागने में कामयाब हो गए। इस पूरे मामले की जानकारी मिलने के बाद गुरुग्राम के सेक्टर 37 थाना क्षेत्र में मुकदमा दर्ज किया गया। जिसके बाद अब गुरुग्राम की सेक्टर 31 क्राइम ब्रांच ने इन दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।


vinod kumar

Related News