सोनीपत की दो बहनों की अनूठी पहल, अनाथ बच्चों को पढ़ाने के लिए ऐसे इकट्ठा कर रही डोनेशन

punjabkesari.in Sunday, Jul 03, 2022 - 12:57 PM (IST)

सोनीपत (सन्नी मलिक) : बेटियां माता-पिता के लिए बोझ नहीं होती। यह कहावत सोनीपत की रहने वाली दो बेटियां चरितार्थ कर रही है। 9वीं और 12वीं में पढ़ने वाली दोनों सगी बहनों ने अनाथ व असहाय बच्चों के लिए पेट्रोल पर अपनी पुरानी किताबों का स्टॉल लगाकर वाहन चालकों को अनाथ और असहाय बच्चों के लिए डोनेशन देने के लिए प्रोत्साहित कर रही हैं।

जानकारी के मुताबिक यह दोनों बहनें सोनीपत की रहने वाली लायशा और कायना है। यह दोनों बहनें ऊटी के शेफर्ड स्कूल की छात्राएं है। दोनों बहने करीब पिछले तीन सप्ताह से सोनीपत के बहालगढ़ रोड पर स्थित गुलिया पेट्रोल पंप पर अपनी पुरानी किताबों को लेकर एक स्टाल लगा रही हैं और अनाथ व असहाय ही बच्चों के लिए डोनेशन इकट्ठा कर रही है। दोनों बच्चियों की अनूठी पहल की चर्चा पूरे सोनीपत में है और आने जाने वाले वाहन चालकों को यह दोनों बेटियां पढ़ाई से वंचित अनाथ और असहाय बच्चों के लिए डोनेशन देने के लिए प्रोत्साहित कर रही है और जो लोग बच्चों से किताबें नहीं खरीद रहे हैं वह बच्चियों को डोनेशन दे कर जा रहे हैं।

लायशा और कायना ने बताया कि वह अनाथ व असहाय बच्चों के लिए डोनेशन इकट्ठा करने के लिए इस तरह का कदम उठा रही हैं और उन्हें यह प्रेरणा अपने माता-पिता से मिली है, क्योंकि उनके माता-पिता सेफ इंडिया फाउंडेशन से जुड़े है, जोकि समाज में अच्छे कामों के लिए बनी है और यह फाउंडेशन बच्चों की पढ़ाई के लिए काम कर रही है। उन्होंने बताया कि वह अपने माता-पिता के दोस्तों और अपने परिवार वे आस-पड़ोस से भी किताबें लाकर यहां पर रख रही है ताकि वाहन चालक आए और किताब लेकर उन्हें डोनेशन दें। 

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)


 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Manisha rana

Related News

Recommended News

static