वैक्सीन ही संक्रमण की चैन को तोड़ने का एकमात्र साधन : सूरजभान कंबोज

1/18/2021 1:52:53 PM

चंडीगढ़ (धरणी) : 16 जनवरी को कोरोना की वैक्सीन देश के दूसरे राज्यों की तरह हरियाणा में भी लगाई गई। जिसमें सबसे पहले स्वास्थ्य विभाग के डीजी कार्यालय के सीनियर डॉक्टर्स व अन्य स्टाफ ने यह वैक्सीन लगवा कर प्रदेश में एक बहुत अच्छा संदेश दिया कि भ्रम में ना पड़े और बिना संकोच के वैक्सीन को लगवाएं। इसी के चलते पंजाब केसरी ने आज हेल्थ सर्विसेज के डायरेक्टर जनरल सूरजभान कंबोज से बातचीत की।

कंबोज भी 16 तारीख को यह वैक्सीन लगवा चुके हैं। जिस पर उन्होंने बताया कि वह वैक्सीन लगवाने के बाद आधे घंटे तक ऑब्जरवेशन रूम में भी रहे। लेकिन अभी तक उन्हें किसी प्रकार की दिक्कत महसूस नहीं हुई है और आज तीसरा दिन है वह बहुत अच्छा महसूस कर रहे हैं। उन्होंने इसके साथ ही बताया कि हल्का बुखार और सिर दर्द इत्यादि हल्की-फुल्की दिक्कत आ सकती है। लेकिन इस प्रकार के साइडइफेक्ट लगभग सभी वैक्सीन के बाद आती है। इसलिए इससे घबराने की जरूरत नहीं है और यह ही एकमात्र संक्रमण की चैन को तोड़ने का साधन है।      

कंबोज ने बताया कि पहले ही दिन विभाग ने 78 फ़ीसदी टारगेट पूरा कर लिया था और बाकी टारगेट को पूरा करने के लिए 18 तारीख को वैक्सीन दोबारा लगाना शुरू किया है। साथ ही उन्होंने बताया कि दूसरी खेप आने पर साइट्स की संख्या 77 से और अधिक बढ़ाई जाएगी। पंजाब व कई अन्य सरकारों के फ्री वैक्सीन लगाने की घोषणा के सवाल पर उन्होंने कहा कि हरियाणा में वैक्सीन फ्री लगाई जाएगी या नहीं यह सरकार का विषय है। लेकिन फ्रंटलाइन वर्कर्स और स्वास्थ्य विभाग से जुड़े लोगों को वैक्सीन फ्री लगाने की घोषणा सरकार द्वारा कर दी गई थी। उन्होंने बताया कि वैक्सीन के लिए मेन ड्रग स्टोर कुरूक्षेत्र में है। बाकी लगभग सभी जिला लेवल पर पीएचसी सीएचसी तक में भी विभाग की कोल्ड चेन स्टोरेज स्टोर है। जितनी जिस स्थान पर वैक्सीन की जरूरत है। वहां मौजूद स्टोरों में उतनी वैक्सीन रखने की व्यवस्था है और साथ ही हर जिले में वैक्सीन रेफ्रिजरेटर वैन भी है। इसलिए ट्रांसपोर्टेशन को लेकर भी कोई दिक्कत नहीं आई है ना ही आगे आएगी। 


Manisha rana

Related News