कोविड-19 ड्यूटी करने के बाद निकाले गए सभी कर्मचारियों को वापस लेने के विज ने दिए आदेश

punjabkesari.in Wednesday, Apr 27, 2022 - 10:23 PM (IST)

चंडीगढ़(धरणी): हरियाणा के गृह व स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज जो कहते हैं वह करते हैं इसका एक और प्रमाण बुधवार को हरियाणा सचिवालय में देखने को मिला।  शनिवार को अनिल विज द्वारा करो न के काल में ड्यूटी करने वाले वह बाद में नौकरी से निकाले गए लोगों को वापस लेने का वादा अनिल विज ने किया था । आज बुधवार को अनिल विज ने यह वादा पूरा किया तथा विभाग को इस मामले में लिखित रूप से आदेश जारी कर दिए गए हैं।

हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री  अनिल विज ने कोविड-19 कार्यकाल में पहली लहर व दूसरी लहर के दौरान आवश्यकता के अनुसार ड्यूटी पर तैनात किए गए ऐसे कर्मचारी जिन्हें कॉन्ट्रैक्ट पर रखा गया था मगर कोविड की तीसरी लहर समाप्त होने के साथ-साथ उन्हें पूरे हरियाणा भर से काम से निकाल दिया गया उन सभी कर्मचारियों को कोविड-19 की चौथी लहर के मद्देनजर वापस ड्यूटी पर लेने के आदेश जारी किए हैं।

कोविड-19 की पहली लहर व दूसरी लहर के दौरान हरियाणा में जगह-जगह मरीजों की देखभाल उपचार वह दवा वितरण के लिए जिन लोगों ने ड्यूटी आती थी हवाओं ने निकाल दिया गया था अब उन्हें कोविड-19 की चौथी लहर के मद्देनजर वापस ड्यूटी पर लिए जाने के लिए गृह व स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने आज आदेश जारी कर दिए हैं। प्राप्त जानकारी के अनुसार पूरे हरियाणा भर में चार हजार के करीब ऐसे कर्मचारी हरियाणा के विभिन्न जिलों से लगातार अनिल जी के घर दफ्तर तथा खुले दरबार में चक्कर काट रहे थे जिन लोगों को नौकरी से हटाया गया था।

पिछले दिनों  शनिवार के दिन अनिल बीच जब अपना खुला दरबार रेस्ट हाउस में लगाने जा रहे थे तो उन्हें जानकारी मिली थी करो ना कॉल में ड्यूटी देने वाले नौकरी से वंचित किए गए सैकड़ों लोग बस अड्डे पर बैठे हैं। अनिल विज बिना सुरक्षा तंत्र को बताएं सीधा बस अड्डे पहुंचे तथा फड़े पर बैठकर उन लोगों की बातें सुनी।अम्बाला छावनी बस स्टैंड पर प्रदेशभर से एकत्रित हुए कोरोना कर्मचारी एसोसिएशन हरियाणा और एनएचएम कर्मचारी संघ हरियाणा के सैकड़ों सदस्यों के साथ बातचीत में विज थरडे पर ही बैठ गए,व उनसे बातचीत की।

अनिल विज ने खुले दरबार जाने से पहले जब यह कदम उठाए तो उनके इस कदम का एहसास स्थानीय प्रशासन या उनके सुरक्षा में तैनात किसी भी पुलिस कर्मचारी को पहले से नहीं था। अनिल विज मौके पर पहुंचे तथा इन कर्मचारियों की पीड़ा सुनी। कोविड-19 कार्यकाल में ड्यूटी दे चुके इन कर्मचारियों की पीड़ा सम अनिल विज ने कहा कि आप लोग पोर्टल पर जाकर अप्लाई करें। जिस भी व्यक्ति ने एक भी दिन कोविड-19 कार्यकाल में काम किया है उसके साथ किसी भी तरह की कोई ज्यादती नहीं होने दी जाएगी। अनिल विज इन लोगों के पास इसलिए पहुंचे क्योंकि जब उन्हें किसी से जानकारी मिली कि यह लोग बस स्टैंड के पास धरने पर बैठ गए हैं तो फिर से रुका नहीं गया तथा खुला दरबार में जाने से पहले वहां पहुंच गए।  

उल्लेखनीय है कि हरियाणा के सभी 22 जिलों में कोविड-19 की दूसरी लहर जब पीठ पर थी तथा अस्पताल भरे पड़े थे उस वक्त विशेष परिस्थितियों देखते हुए हरियाणा सरकार ने स्वास्थ्य विभाग के अंतर्गत कई ट्रेन लोगों को काम पर लगाया था। आजकल 22 जिलों के चार हजार के करीब कर्मचारी नौकरी से वंचित हैं। वह लगातार हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज व सरकार से मांग कर रहे थे कि उन्हें वापस नौकरी पर रखा जाए।


 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vivek Rai

Related News

Recommended News

static