कोरोना योद्धाओं के साथ क्यों किया जा रहा ऐसा व्यवहार ? दिखाया गया बाहर का रास्ता

punjabkesari.in Tuesday, Apr 05, 2022 - 10:15 PM (IST)

रोहतक(दीपक): कोरोना जब अपने विकराल रूप में था तब स्वास्थ्य कर्मी अपनी जान जोखिमें डालकर लोगों की सेवा कर रहे थे और महामारी के बढ़ते प्रकोप के बीच ही स्वास्थ्य विभाग ने आउटसोर्सिंग के जरिए लगभग 40 के करीबन कर्मचारियों की भर्ती की थी। लेकिन अब इन कर्मचारियों को बाहर का रास्ता विभाग की ओऱ से दिखाया गया है।

जिसके विरोध में रोहतक के सिविल सीएमओ कार्यालय के बाहर लैब टेक्नीशियन धरने पर बैठ गए हैं। धरने पर बैठे लैब टेक्नीशियन कर्मचारी अमित व वर्षा का कहना है कि स्वास्थ्य विभाग उनके साथ धोखा कर रहा है क्योंकि जब मुश्किल की घड़ी थी तब कोई भी व्यक्ति काम नहीं कर रहा था तब उन्हें लगाया गया था। जैसे-जैसे कोरोना बढ़ता गया कोरोना के साथ-साथ उनका टाइम पीरियड भी बढ़ता गया । लेकिन अब कोरोना कम हो गया है तो उन्हें बहार का रास्ता दिखा दिया है।

उनका कहना है की अब उनके पास कोई रोजगार नही है। उसी के विरोध में आज यह धरना दिया है और जब तक स्वास्थ्य विभाग दोबारा से नौकरी पर नहीं रखता तब तक वह धरने पर बैठे रहेंगे।

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vivek Rai

Related News

Recommended News

static