शहीद के अंतिम संस्कार में नहीं पहुंचे अधिकारी, तो नाराज युवकों का मुख्यमंत्री पर फूटा गुस्सा

punjabkesari.in Monday, Jul 05, 2021 - 05:33 PM (IST)

सोहना (सतीश): सोहना में अधिकारियों व बीजेपी कार्यकर्ताओ की लापरवाही का शिकार प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल को उस समय होना पड़ा, जिस समय वह एक शादी समारोह में शामिल होने के लिए उड़नखटोला में बैठकर एक पांच सितारा होटल के लिए जा रहे थे। हेलीकॉप्टर को उतारने के लिए सोहना के देवीलाल खेल स्टेडियम में जगह निश्चित की गई थी, लेकिन ग्रामीणों के विरोध के चलते मुख्यमंत्री के उड़नखटोला को वहां पर नहीं उतारा गया। बाद  अभयपुर गांव के नजदीक निर्माणाधीन मुम्बई, दिल्ली एक्सप्रेस के पास एक निजी फार्म हाउस में हेलीकॉप्टर को उतारा गया। 

PunjabKesari, haryana

इस दौरान वहां पर स्थानीय विधायक के साथ कुछ पार्टी कार्यकर्ता भी सीएम के स्वागत के लिए पहुंचे। जिसके बाद मुख्यमंत्री काफिले के साथ करीब तीन किलोमीटर बाई सड़क दमदमा गांव में बने पांच सितारा होटल में पहुंचे, जहां पार्टी के कार्यकर्ता के बेटे संचय की शादी का आयोजन किया जा रहा था। मुख्यमंत्री यहां पर करीब आधा घंटा रुके। उनके साथ बीजेपी पार्टी के कई नेता व सोहना के विधायक मौजूद रहे।

बता दें कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल जिस होटल में पहुंचे थे, वहां से चंद कदमों की दूरी पर शहीद आकाश का घर है, जो दस दिन पहले जम्मू-कश्मीर के उरी में शहीद हो गए थे। शहीद का अंतिम संस्कार सैनिक सम्मान के साथ पैतृक गांव दमदमा में किया गया था, लेकिन शहीद के अंतिम संस्कार में ना तो पुलिस पहुंची और ना ही स्थानीय प्रसाशन का कोई अधिकारी। 

PunjabKesari, haryana

रविवार को शहीद की तेहरवीं और श्रद्धांजलि सभा थी। मुख्यमंत्री जब शहीद के परिवार को सांत्वना देने के लिए उनके घर नहीं पहुंचे तो ग्रामीण नाराज हो गए। उन्होंने अपना रोष प्रकट करने के लिए सीएम काफिले को उस समय काले झंडे दिखाए, जिस समय वह शादी समारोह से दमदमा टूरिस्ट कॉम्प्लेक्स की तरफ जा रहे थे। जहां पर पुलिस ने दो युवकों हिरासत में ले लिया। दोनों युवकों को सदर पुलिस थाना लाया गया, जिन्हें पुछताछ के बाद आगे से ऐसा नहीं करने की चेतावनी देकर बिना कुछ कार्यवाही किए छोड़ दिया गया।

मुख्यमंत्री को काले झंडे दिखाने के पीछे स्थानीय नेताओं व प्रसाशनिक अधिकारियों की लापरवाही मानी जा रही है। क्योंकि बीजेपी नेता या फिर प्रसाशनिक अधिकारी शहीद के घर जाने के लिए बोलते तो शायद मुख्यमंत्री मना नहीं करते, जबकि इस दौरान बीजेपी के नेताओं ने मुख्यमंत्री के हेलीकॉप्टर के साथ खूब सेल्फी ली और फोटो भी खिंचवाए।
 

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

vinod kumar

Related News

Recommended News

static