ऐलनाबाद उपचुनाव के लिए वोटिंग खत्म, 81.38 प्रतिशत हुआ मतदान, जानिए सारे दिन का अपडेट

punjabkesari.in Saturday, Oct 30, 2021 - 06:23 PM (IST)

डेस्क: ऐलनाबाद उपचुनाव के लिए मतदान प्रक्रिया शांतिपूर्ण तरीके से खत्म हो गई है। 1 लाख 85 हजार में से 81.38 फीसदी मतदाताओं ने अपने मत का प्रयोग कर मैदान में उतरे 19 प्रत्याशियों का भविष्य ईवीएम में कैद कर दिया है। अब प्रत्याशियों का भविष्य का फैसला 2 नवंबर को मतगणना के दिन होगा। ईवीएम मशीनों को सील कर मतगणना केंद्र पर पहुंचाने की तैयारी की जा रही है। मतदान को लेकर प्रशासन पर पूरी तरह सतर्क रहा। कहीं से ऐसी कोई घटना सामने नहीं आई कि जिससे मतदान प्रभावित हुआ हो। नीचें देखें दिन भर का घटनाक्रम-

पैसे बांटे जाने की लिस्ट वायरल, 32 हजार की नकदी के साथ पकड़ा गया युवक
इसी बीच एक लंबी-चौड़ी लिस्ट वायरल हो रही है, जिसमें सैकड़ों नाम और उनके आगे एक विशेष अंक लिखा पाया गया है। यह लिस्ट हलके के गांव मिठी सुरेरां में एक युवक के पास से जब्त की गई है और युवक के पास 32 हजार की नकदी भी पकड़ी गई है। इसके साथ ही गांव ठोबारिया में भी बाहरी व्यक्ति पकड़ा गया जिस पर किसानों ने भाजपा कार्यकर्ता होने का आरोप लगा। 

PunjabKesari

स्पेशल सर्विलांस की टीम का रहा कड़ा पहरा
मतदान में पारदर्शिता लाने लिए चुनाव आयोग के साथ स्पेशल सर्विलांस की टीम भी कड़ा पहरा रहा। ऐलनाबाद के हर नाके पर टीम ने गहनता से जांच की। 

PunjabKesari

गोविंद कांडा सिरसा के सालासर मंदिर में माथा टेका
भाजपा-जजपा उम्मीदवार गोविंद कांडा ने सुबह होते ही परिवार सहित सिरसा के सालासर मंदिर में माथा टेका। वहीं कांग्रेस के उम्मीदवार पवन बेनीवाल ने सबसे पहले अपने मत का प्रयोग किया।

ऐलनाबाद विधानसभा सीट पर 14 बार हो चुके हैं चुनाव
बता दें कि ऐलनाबाद विधानसभा सीट पर 14 बार चुनाव हो चुके हैं, जिसमें दिवंगत देवीलाल के नेतृत्व वाली पार्टी के उम्मीदवार ही विजयी हुए हैं। पिछले 20 सालों इस सीट इनेलो का कब्जा रहा है। सन 2009 में इनेलो सुप्रीमो ओपी चौटाला ने इस सीट से इस्तीफा दिया था, जिसके बाद 2010 में हुए उपचुनाव में अभय चौटाला ने इस सीट से जीत हासिल की और तब से लगातार तीन बार इस हलके से विधायक चुने गए। 

दरअसल, ओपी चौटाला ने विधानसभा चुनाव में दो सीटों से चुनाव लड़ा था। ओपी चौटाला ने  दोनों सीटों पर जीती हासिल की थी, ऐसे में चौटाला को ऐलनाबाद की सीट छोड़नी पड़ी थी। इसके बाद इस सीट पर उपचुनाव की घोषणा की, जिसमें अभय चौटाला इनेलो की टिकट पर दावेदारी पेश की और जीत हासिल की।  

कोरोना गाइडलाइन का रखा गया ध्यान
ऐलनाबाद विधानसभा सीट पर उपचुनाव के लिए हो रहे मतदान के दौरान कोरोना गाइडलाइंस का ध्‍यान पूरी तरह रखा गया। इस दौरान अधिकांश लोग प्रशासन द्वारा बनाए गए गोले में खड़े नजर आए वहीं, मास्‍क भी लोगों के चेहरे पर नजर आए।

अफसरों की लगातार बूथ केंद्रों पर नजर
ऐलनाबाद उपचुनाव को लेकर लगातार अफसरों की नजर बूथ केंद्रों पर बनी रही है। लगातार गांवों का दौरा किया जा रहा थे। वहीं, मतदान केंद्रों के अंदर और बाहर बड़ी संख्या में भीड़ नजर आई। क्षेत्र में हर आने जाने वाले पर कड़ी नजर पुलिस की ओर से रखी जा रही थी। 

इसलिए हुआ दोबारा उपचुनाव
इसी साल जनवरी माह में अभय चौटाला ने कृषि कानूनों के विरोध में इस्तीफा दे दिया था। उनके इस्तीफा देने के बाद यह सीट खाली पड़ी थी। चुनाव आयोग ने पिछले माह इस सीट पर उपचुनाव की घोषणा की थी। इस उपचुनाव को लेकर आज वोटिंग खत्म हो गई है। अब 2 नवंबर को नतीजे आएंगे। 

PunjabKesari
 
(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Isha

Related News

Recommended News

static