दिल्ली पुलिस में सब इंस्पेक्टर लगाने के नाम पर ठगे 20.70 लाख रुपए, पति-पत्नी ने जाल में फंसाया

9/30/2021 1:43:10 PM

रेवाड़ी (योगेंद्र सिंह): जिले में एक युवक को दिल्ली पुलिस में सब इंस्पेक्टर लगाने के नाम पर उससे 20.70 लाख रुपए ठगने का सनसेनीखेज मामला सामने आया है। ठगी करने का आरोप पीडि़त की कॉलेज फे्रंड एवं उसके पति पर ही लगा है। धारूहेड़ा पुलिस ने पति-पत्नी के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। रेवाड़ी के गांव गिंदोखर रहने वाले यशवनी कुमार ने बताया कि वह आईजीयू यानि इंदिरा गांधी यूनिवर्सिटी मीरपुर रेवाड़ी से एमए का स्टूडेंट हैं। उसकी क्लास में मॉडल टाउन रहने वाली नेहा ने उसे बताया कि उसकी एयरपोर्ट अथॉरिटी में नौकरी लग गई।  

कुछ दिन नौकरी से संबंधित बातें चली और उसके बाद नेहा ने यशवनी को भी नौकरी दिलाने का ऑफर दिया। यशवनी उसकी बातों में आ गया। नेहा ने बताया कि उसकी नौकरी यूपी के मुजफ्फनगर के गांव बरवाला रहने वाले विजय कुमार बाल्यान ने लगवाई है। जब तक यशवनी को यह नहीं पता था कि नेहा की विजय कुमार बाल्यान से सगाई हो चुकी है। इसके बाद नेहा ने यशवनी को विजय से मिलवा दिया। विजय ने बताया कि उसने दिल् ली पुलिस में कांस्टेबल व सब इंस्पेक्टर पद पर कईयों को लगवाया है। उसने यशवनी को एक लिस्ट भी बताई जिसमें उसके लोगों का चयन हुआ था। यशवनी ने घर आकर परिजनों से बात की और उन्हें भी विश्वास में ले लिया। 

दिल्ली पुलिस में सब इंस्पेक्टर लगवाने के नाम पर नेहा व विजय ने धीरे-धीरे यशवनी से 20 लाख 70 हजार रुपए ले लिए। यशवनी ने बताया कि उसने पहले नेहा को दो लाख रुपए कैश दिए और इसके बाद कभी नकद व कभी चैक के माध्यम से पैमेंट किया। नेहा व विजय उसे एसएससी ऑफिस भी लेकर गए, यहां पर उससे एक फॉर्म भी भरवाया। इसके बाद उसे कैंटीन में बैठाकर अंदर जाकर फॉर्म जमा करने एवं सैटिंग करने की बात कह चला गया। उन्होंने आकर बताया कि बात हो गई और उसका पेपर कोई ओर देगा। सीपीओ 2018 को पेपर 15 मार्च 2019 को हुआ और रिजल्ट 25 मार्च 2019 को आया लेकिन लिस्ट में यशवनी का नाम नहीं था। इस पर उसने नेहा व विजय से संपर्क किया तो उन्होंने बताया कि अच्छे नंबर आने के कारण उसका रिजल्ट होल्ड हो गया है। 

18 जून 2019 दोनों ने उसे दिल्ली जीटीबी एक फ्लैट पर बुलाया और उसे एक लिस्ट दिखाई जिसकी फोटो यशवीन ने अपने मोबाइल से ले ली। वहीं दोनों ने उन्हें दिल्ली यूनिवर्सिटी में सीधे इंटरव्यू बेस पर वेकेंसी निकलने की बात कही और फार्म भी भरवाए। यहां पर भी उसकी नौकरी नहीं लगी और उससे और पैसे की डिमांड की। इस पर उसने अपने पैसे मांगने का दबाव बनाना शुरू कर दिया। इस पर उन्होंने उसे 6 लाख रुपए का चैक दिया लेकिन तारीख गलत होने से वह वापिस हो गया। बाद में यशवीन को पता चला कि नेहा व विजय की शादी हो चुकी है और फिर दोनों ने पैसे देने से इंकार कर दिया। कई बार चक्कर काटने पर जब उसे पैसे नहीं मिले तो वह समझ गया कि वह ठगी का शिकार हो चुका है। इस पर उसने पुलिस की शरण लेकर पूरी कहानी बयां की। 

 

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

vinod kumar

Related News

Recommended News

static