चंडीगढ़ के मुद्दे ने दिखाई एकजुटता ! 40 नहीं 90 विधायक लड़ेंगे लड़ाई: नीरज शर्मा

punjabkesari.in Tuesday, Apr 05, 2022 - 07:00 PM (IST)

चंडीगढ़(हरियाणा): हरियाणा के हक के लिए हम सभी एक हैं। जिस प्रकार से पांडवों ने महाभारत के युद्ध में कहा था कि हम आपस में कौरव- पांडव लड़े तो अलग बात है। लेकिन अगर कोई बाहर से लड़ने आएगा तो हम 5 या 100 नहीं, बल्कि 105 है। लड़ाई 105 से लड़नी होगी। इसी प्रकार से हरियाणा के हक के लिए भाजपा के 40, कांग्रेस के 31, जजपा के 10 या निर्दलीय नहीं बल्कि सभी 90 मिलकर लड़ाई लड़ेंगे। हरियाणा के हकों के लिए हम सभी एक हैं। हम आपस में राजनीतिक लड़ाई हमेशा लड़ते रहेंगे, लेकिन कोई बाहर का हमारी इस लड़ाई का फायदा नहीं उठा पाएगा। यह बात फरीदाबाद विधायक नीरज शर्मा ने कही है।

केजरीवाल स्टैंड क्लियर करें कि हरियाणा को हक मिलना चाहिए या नहीं : नीरज शर्मा

पंजाब यूनिवर्सिटी का पुराना सिस्टम लागू करने की मांग करते हुए फरीदाबाद के विधायक नीरज शर्मा ने कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को अपना स्टैंड क्लियर करना चाहिए कि क्या पूरा चंडीगढ़ और एसवाईएल का पानी पंजाब को दे दिया जाए या फिर हरियाणा को उसका हक मिलना चाहिए। शर्मा ने कहा कि मातृभूमि मां होती है, जिसका कभी कर्ज नहीं चुकाया जा सकता, केजरीवाल ने हरियाणा की माटी में जन्म लिया, यही पले बढ़े, यही शिक्षा ग्रहण की, जिस माटी ने उन्हें इतना प्यार दुलार दिया, जिस स्कूल में उन्होंने शिक्षा ग्रहण की, जहां की मिट्टी की बदौलत वह अधिकारी बने और उसी की बदौलत आज मुख्यमंत्री हैं। उस मिट्टी की आज इतनी मिट्टी हो रही है और केजरीवाल की अंतरात्मा नहीं जाग रही बेहद शर्म की बात है। इसलिए केजरीवाल को अपना वक्तव्य देना चाहिए और अपनी बात साफ बतानी चाहिए कि वह किस पाले में खड़े हैं।

हम चंडीगढ़ को किसी भी सूरत में अपने हाथ से नहीं जाने देंगे : नीरज शर्मा

 साथ ही केजरीवाल पर टिप्पणी करते हुए शर्मा ने कहा कि हरियाणा के हितों से जुड़े हर मुद्दे पर हमेशा हमने विपक्ष के तौर पर भी सर्वसम्मति से लड़ाई लड़ने की बात कही है। विपक्ष हमेशा सकारात्मक और रचनात्मक सोच वाला होना चाहिए। हम चंडीगढ़ को किसी भी सूरत में अपने हाथ से नहीं जाने देंगे। आम आदमी पार्टी ने यह झूठे वायदों से ध्यान भटकाने के लिए इस प्रकार का वक्तव्य छेड़ा है। क्योंकि वह वायदों को पूरा नहीं कर सकते। उन्हें अपने वायदों में से कुछ वायदों को पूरा करने की कार्यवाही करनी चाहिए थी। लेकिन उन्होंने जानबूझकर बहस छेड़ दी है। लेकिन हरियाणा का एक एक दल इस मुद्दे पर एक है और लंबी लड़ाई लड़ने के लिए तैयार है। नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने प्रदेश के मुख्यमंत्री को आश्वासन दिया है कि वह प्रधानमंत्री, गृहमंत्री, राष्ट्रपति जिससे भी समय लेंगे सारा विपक्ष कंधे से कंधे मिलाकर उनके साथ खड़ा रहेगा। जहां जहां जरूरत होगी चलने के लिए तैयार है।

कांग्रेस की बैठकें अंदरूनी शीत युद्ध के कारण नहीं बल्कि मिस कम्युनिकेशन के कारण हुई : नीरज शर्मा

कांग्रेस पार्टी की भूपेंद्र सिंह हुड्डा और कुमारी शैलजा की अध्यक्षता में हुई दो अलग-अलग बैठकों पर सफाई देते हुए शर्मा ने कहा कि वह केवल मिसकम्युनिकेशन के कारण अलग बैठके हुई है। यह कोई अंदरूनी शीतयुद्ध नहीं है। दोनों पक्ष आपस में बात नहीं कर पाए थे। इस कारण से अलग-अलग बैठक हुई। शर्मा ने कहा कि विधानसभा में विधानसभा के हिसाब से लड़ाई लड़ी जाती है और सड़क पर सड़क के हिसाब से। आपसी कंफ्यूजन की कोई बात नहीं है। चंडीगढ़ हरियाणा का है। हरियाणा का रहेगा। एसवाईएल का पानी हम लेकर रहेंगे और अलग हाईकोर्ट की हमारी पुरानी मांग थी और रहेगी। हिंदी भाषी क्षेत्र की भी हमारी मांग है और हम उसे लेंगे। चंडीगढ़ पर हरियाणा का पूर्ण अधिकार है।


 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vivek Rai

Related News

Recommended News

static