डेढ़ करोड़ के घोटाले में आरोपी पूर्व लिपिक गिरफ्तार, अधिकारियों के साथ मिलकर की थी धोखाधड़ी

punjabkesari.in Saturday, Aug 13, 2022 - 09:44 AM (IST)

गोहाना : भगत फूल सिंह महिला विश्वविद्यालय में साढ़े पांच साल पहले हुए करीब डेढ़ करोड़ रुपये के घोटाले में सदर थाना गोहाना की पुलिस ने आरोपी तत्कालीन लिपिक सीमा मलिक पत्नी राजेश मलिक निवासी आदर्श नगर, गोहाना को गिरफ्तार किया। उसने विश्वविद्यालय के अधिकारियों के साथ मिल कर दुकानों के किराये, बिजली के बिलों और फीस की रसीदों की आड़ में धोखाधड़ी की थी। शुक्रवार को पुलिस ने आरोपित को अदालत में पेश करके एक दिन के रिमांड पर लिया। पुलिस उससे नकदी बरामद करने के साथ घोटाले में लिप्त अन्य अधिकारियों की भूमिका के बारे में पूछताछ करेगी।

मुख्यमंत्री उडऩदस्ता रोहतक के उप निरीक्षक कर्मबीर की शिकायत पर महिला थाना गोहाना खानपुर कलां में भगत फूल सिंह महिला विश्वविद्यालय में हुए भ्रष्टाचार के संबंध में मामला दर्ज हुआ था। उडऩदस्ता की जांच में विश्वविद्यालय में हुए घोटाले में तत्कालीन रजिस्ट्रार रितु बजाज, लेखा अधिकारी राजेश मनोचा, लिपिक सीमा मलिक, पूर्व लेखा अधिकारी राजेश वर्मा, अकाउंट आफिसर वेदप्रकाश दुआ और डाटा एंट्री आपरेटर अजय मालिक संदिग्ध भूमिका में पाए गए थे। इस मामले की जांच अब सदर थाना के प्रभारी एवं निरीक्षक कर्मजीत कर रहे हैं। कर्मजीत ने पुलिस टीम के साथ आरोपी सीमा मलिक को गिरफ्तार किया। पुलिस ने आरोपित को अदालत में पेश करके एक दिन के रिमांड पर लिया है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Isha

Related News

Recommended News

static