सील किए गए हरियाणा-पंजाब बॉर्डर पर मौजूद सभी रास्ते, जींद में लगाए गए बड़े पत्थर

11/25/2020 9:00:59 PM

कैथल/जींद/ फतेहाबाद/ सोनीपत (ब्यूरो): केंद्र सरकार द्वारा जारी किए गए तीन कृषि कानूनों को लेकर कल 26 नवंबर को किसान दिल्ली कूच कर रहे हैं और एक बड़ा आंदोलन करने जा रहे हैं, जिसमें कई ट्रेड यूनियन भी किसानों का साथ दे रही हैं। जिसे देखते हुए हरियाणा के कैथल, जींद, सोनीपत व फतेहाबाद आदि जिलों में अंतरराज्यीय रास्ते सील कर दिए गए हैं।

कैथल जिले में जिला पुलिस प्रशासन द्वारा 23 जगह नाके लगाए गए हैं और 7 अंतरराज्यीय बॉर्डर को भी सील किया गया है। जगह-जगह पर आने-जाने वाले वाहन की चेकिंग की जा रही है, क्योंकि यह आंदोलन सरकार व प्रशासन के लिए सिरदर्द बना हुआ है।

PunjabKesari, Haryana

फतेहाबाद में जिला प्रशासन हाई अलर्ट पर चल रहा है। जिले की सीमाएं पंजाब राज्य से सटी होने के कारण प्रशासन और भी मुस्तैद है। जिलेभर में करीब आधा दर्जन स्थानों पर जहां पंजाब की सीमाएं लगती हैं, वहां बैरिकेटिंग कर सीमाओं को सील कर दिया गया है और भारी पुलिस बल भी तैनात किया गया है। इसके साथ ही ड्यूटी मजिस्ट्रेट भी नियुक्त किए गए हैं। जिले में हांसपुर, ब्राह्मणवाला, जाखल, टोहाना के पंजाब सीमावर्ती इलाकों में प्रशासन खास एहतियात बरत रहा है। प्रशासनिक अधिकारियों का कहना है कि जिले में किसी भी सूरत में कानून व्यवस्था को बिगडऩे नहीं दिया जाएगा।

PunjabKesari, Haryana

सोनीपत में एडीजीपी संदीप खिरवार ने बताया कि हमने सभी सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम कर लिए हैं। जिले में दो इंटरस्टेट नाके लगाए गए हैं। एक आरपीएफ और एक सीआरपीएफ की टुकड़ी को भी राजीव गांधी एजुकेशन सिटी में लगाया गया है।

PunjabKesari, Haryana

उधर, जींद में हरियाणा पंजाब बॉर्डर पूरी तरह ब्लॉक कर दिया गया है, जहां पुलिस के 600 जवानों की तैनाती की गई है। प्रशासन ने रास्ते पर बड़े-बड़े पत्थर और बैरीकेट लगा दिए हैं। पुलिस का कहना किसी को भी बॉर्डर पार करने की इजाजत नहीं दी जाएगी। प्रशासन का दावा है कि किसानों के बीच उपद्रवियों के मौजूद होने की आशंका है जो शांति भंग करने का प्रयास कर सकते हैं, इसलिए सख्ती बरती जा रही है।


Shivam

Related News