रिश्वत लेते हुए धरा गया डीसी कार्यालय में तैनात सुपरिटेंडेंट, क्लर्क से मांगे थे 30 हजार रूपए

punjabkesari.in Wednesday, Jul 13, 2022 - 09:39 PM (IST)

सोनीपत(राम सिंहमार): सोनीपत के उपायुक्त कार्यालय में तैनात एक सुपरिटेंडेंट को विजिलेंस की टीम ने 20 हजार रूपए रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किया है। आरोप है कि सुपरिटेंडेंट में अपने ही साथी कर्मचारी से रिश्वत की डिमांड की थी। सरकारी कर्मचारी ने इसकी शिकायत सोनीपत विजिलेंस को दी और सोनीपत विजिलेंस ने आरोपी को रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया।

ट्रांसफर की फाइल पर साइन करने के लिए मांगे थे 20 हजार रूपए

डीआरओ कार्यालय में तैनात जितेंद्र नाम के क्लर्क ने सोनीपत विजिलेंस को शिकायत दी थी कि उपायुक्त कार्यालय में तैनात सुपरिटेंडेंट वेद प्रकाश, सोनीपत कार्यालय से गन्नौर एसडीएम कार्यालय में ट्रांसफर करने के लिए 30 हज़ार रूपए रिश्वत की डिमांड कर रहा है। जितेंद्र ने वेद प्रकाश को 10 हज़ार रूपए पहले ही दे दिए थे। लेकिन आज जितेंद्र की इसकी शिकायत विजलेंस में कर दी।  विजिलेंस टीम ने जितेंद्र को 20 हजार रूपए देकर आरोपी को देने के लिए भेजा और योजनाबद्ध तरीके से वेद प्रकाश को रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया।

विजिलेंस डीएसपी जयपाल सिंह ने बताया कि हमें डीआरओ कार्यालय में तैनात जितेंद्र नाम के क्लर्क से शिकायत मिली थी। उसके सोनीपत से गन्नौर तबादले की फाइल पर साइन करने के लिए वेद प्रकाश नाम का सुपरिटेंडेंट रिश्वत मांग रहा था। जिस पर हम ने कार्रवाई करते हुए उसे 20 हजार रूपए की रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार कर लिया है।

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)

 

 

 

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vivek Rai

Related News

Recommended News

static