सरकार के बेहतरीन कामों के कारण विपक्ष की छाती पर सांप लोट रहा है: अरविंद यादव

9/16/2021 3:56:05 PM

चंडीगढ़ (धरणी): जिला फतेहाबाद के सेंट्रल को-ऑपरेटिव बैंक में हुए 70-80 करोड़ रुपए के घोटाले मामले में बैंक ने बड़ी कार्यवाही करते हुए 42 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई है, जिसमें से हरको बैंक के 6 कर्मचारी और सेंट्रल बैंक फतेहाबाद के 36 लोग शामिल हैं और बैंक ने करीब 50 करोड़ रुपए की रिकवरी भी इस मामले में की है। इस मामले में हरको बैंक के चेयरमैन अरविंद यादव ने बताया कि पैक्स स्तर से ऊपर का पूरा सिस्टम कंप्यूटराइज नहीं होने के कारण ऐसा हुआ है क्योंकि ऑडिट होने पर ही इस प्रकार की चीजें पकड़ में आती हैं। इसलिए हरको बैंक में बहुत तेजी से अपनी सभी 730 पैक्स को कंप्यूटराइज करने को लेकर तेजी से काम शुरू कर दिया है। बहुत सी अन्य खामियां भी हमारे संज्ञान में आई हैं। पूरे मामले की जांच के बाद सख्त एक्शन लिया गया है।

अरविंद यादव ने इस मौके पर किसान आंदोलन को पूरी तरह से राजनीतिक आंदोलन करार देते हुए कहा कि सोते हुए को तो जगाया जा सकता है, लेकिन जो जागते हुए सोने का बहाना बनाए, उसे कौन जगाया जा सकता है। यह आंदोलन किसानों के कंधे पर अपना राजनीतिक हथियार रखकर विरोधी पार्टियों द्वारा खड़ा किया गया है। इसलिए किसान समझने को तैयार नहीं है और न ही वो समझेंगे। 11 दौर की बैठक में केंद्रीय कृषि मंत्री समेत कई मंत्री शामिल हुए लेकिन आंदोलनकारियों ने कानून काले हैं, का राग अलाप रखा है। सरकार ने कहा कि कानूनों में काला कहां है? हम संशोधन के लिए तैयार हैं लेकिन उनके पास कहने को कुछ नहीं, वह कानून वापस लेने की जिद पर अड़े हैं। यह आंदोलन एक राजनीतिक एजेंडा है क्योंकि कांग्रेस कार्यकाल के दौरान भ्रष्टाचार बहुत से घोटाले हुए लेकिन 7 साल की सत्ता के दौरान केंद्र और प्रदेश सरकार पर आरोप लगाने के लिए विपक्ष के पास कुछ नहीं है। हम लगातार लंबे समय तक विपक्ष में रहे। इसीलिए हम विपक्ष के डायरेक्टर हैं। अगर इन्हें कुछ कहने के लिए नहीं मिल रहा, तो हमसे आकर ट्रेनिंग ले लें।

अरविंद यादव ने कहा कि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2022 तक किसानों की आय को दोगुनी करने का मन बना रखा है। क्योंकि किसान देश की अर्थव्यवस्था की रीढ़ है। किसान मजबूत होने से ही देश की अर्थव्यवस्था मजबूत होगी। किसान को मजबूत करने के लिए ही  1000-1200 में बिकने वाला बाजरा इस बार 2200 में बिका। 3000-3200 में बिकने वाली सरसों 7500 में बिक रही है। 1 सितंबर 2014 के बाद मेरे अपने हरको बैंक ने 5 लाख से अधिक किसानों को केंद्र सरकार का 3 व प्रदेश सरकार का 4 फ़ीसदी कुल मिलाकर करीब 1600 करोड़ रुपए केवल ब्याज में रिबेट के रूप में दिए। इसी तरह हम 3,66,700 पेंशन खातों से किसानों को पेंशन दे रहे हैं। आज किसान को मजबूत करने के लिए केंद्र सरकार की प्रधानमंत्री ग्रामीण विकास योजना, प्रधानमंत्री बीमा सुरक्षा योजना, जीवन ज्योति बीमा योजना समेत बहुत सी योजनाएं चलाई गई है। किसानों को जीवन बीमा देकर परिवार को सुरक्षित किया गया है। सरकार द्वारा गरीब और किसान के लिए कई क्रांतिकारी कदम उठाए गए हैं। जिस कारण से विपक्ष की छाती पर सांप लौट रहा है।विपक्ष किसानों का बहाना बनाकर देश में अफरा-तफरी का माहौल बनाना चाहता है लेकिन जनता सब देख रही है 2024 के चुनावों में जनता देश का मतदाता इन्हें अपने वोट की ताकत से जवाब देगा।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Shivam

Recommended News

static