भाजपा स्वच्छ शहर और क्वालिटी ऑफ लिविंग की सोच वाली पार्टी : ओमप्रकाश धनखड़

punjabkesari.in Wednesday, Apr 20, 2022 - 03:36 PM (IST)

चंडीगढ़(चंद्रशेखर धरणी): हरियाणा में होने वाले 48 निकाय चुनावों को लेकर भारतीय जनता पार्टी बड़ी बारीकी से कार्य करने पर लगी हुई है। जिसे लेकर लगातार क्षेत्रीय नेताओं से बैठके कर फीडबैक लेने का कार्य चल रहा है। इस महत्वपूर्ण विषय पर जानकारी देते हुए भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ओमप्रकाश धनखड़ ने बताया कि परिषदों के चुनाव पार्टी सिंबल पर लड़गी, जबकि पार्षद और पालिकाओं के चुनाव सिंबल पर लड़ने या ना लड़ने का अधिकार जिला इकाइयों को देना सुनिश्चित किया है।

धनखड़ ने कहा कि प्रदेश में कुल 48 स्थानों पर निकाय चुनाव होने हैं। जिसमें 19 नगर परिषद और 29 नगर पालिका शामिल है। परिषदों के चुनाव पार्टी सिंबल पर लड़ने जा रही है। जबकि पार्षद और पालिकाओं के चुनाव सिंबल पर लड़ने या ना लड़ने का अधिकार जिला इकाइयों को देना सुनिश्चित किया है। रणनीतिक दृष्टि से जो भी उन्हें अच्छा लगेगा यह उनका क्षेत्राधिकार होगा। धनखड़ ने कहा कि हमारे कार्यकाल में चेयरमैन का चुनाव डायरेक्ट करवाया गया। पंचायत मंत्री रहने के दौरान पढ़ी-लिखी पंचायत का प्रपोजल मैं खुद लेकर आया। जिसकी लड़ाई हमने सर्वोच्च न्यायालय तक लड़ी और नगर निकाय भी शिक्षित बनाने को लेकर हमने ही पहल की। जिसके चलते पंचकूला, करनाल, रोहतक, पानीपत, गुड़गांव में हमारे मेयर चुनकर आए। इन चुनावों को लेकर भी हम स्थानीय मुद्दों को साथ-साथ राज्य और केंद्र की सरकार की नीतियों और सोच को जनता के बीच में रखने का काम करेंगे।

भाजपा प्रदेश में स्वच्छ शहर और क्वालिटी ऑफ लिविंग की सोच वाली पार्टी है। धनखड़ ने जानकारी देते हुए बताया कि गुरुग्राम में भी वह कार्यकर्ताओं से फीडबैक लेने को लेकर बैठक कर चुके हैं। फरीदाबाद लोकसभा में होने वाले चुनावों को लेकर भी चर्चा हुई है। इसके साथ-साथ सिरसा, हिसार, भिवानी, रोहतक, महेंद्रगढ़ लोकसभा के नेताओं, इलेक्शन इंचार्ज, जिलाध्यक्ष और प्रभारियों के साथ हम बैठकर कर चुके हैं। इसी तरह से करनाल, कुरुक्षेत्र, अंबाला की नगर पालिका- परिषदों के नेताओं की फीडबैक लेने का काम जारी है। कौन उम्मीदवार चुनाव लड़ने के इच्छुक हैं, किस प्रकार की तैयारियां हैं, इस लेवल की तैयारी की जा रही है। इन स्थानों पर हमने वोट समितियां, इलेक्शन इंचार्ज और फुल टाइम देने वाले विस्तारक लगाए हैं। बड़े नेताओं का टूर बनाया गया है। मंत्रियों व बड़े नेताओं के इन स्थानों पर चाय पानी इत्यादि के प्रोग्राम हो रहे हैं। हम इलेक्शन कमेटी से पहले की अपनी पूरी एक्सरसाइज में लगे हुए हैं। मैं अपने संगठन मंत्री रविंद्र राजू व तीनों महामंत्रियों मदन कौशिक, पवन सैनी और वेद पाल के साथ संबंधित जिला अध्यक्षों, प्रभारी, विधायकों और इलेक्शन इंचार्ज से विचार-विमर्श का कार्य कर रहे हैं।

 इस मौके पर पंजाब द्वारा एसवाईएल और चंडीगढ़ को लेकर लाए गए प्रस्ताव की निंदा करते हुए धनखड़ ने कहा कि एसवाईएल हरियाणा के लिए दो तरह से महत्वपूर्ण है। पहला 19 लाख एकड़ फीट पानी हमारे किसानों के जीवन को बदलने में सहयोगी बनेगा। दूसरा भाखड़ा डैम से आने वाले पानी का एक ही चैनल हमारे पास उपलब्ध है। इसका एक अल्टरनेट चैनल हमारे पास होना अति आवश्यक है और यह चैनल पहले से भी बड़ा होना चाहिए। सभी तरह की बहस, चर्चा, राजनीतिक हड़तालों के बाद पंजाब विधानसभा में इसके विरोध में लाए गए काले कानून पास होने के बाद सर्वोच्च न्यायालय का निर्णय हमारे हक में आया। यह हरियाणा का अधिकार है और प्रदेश सरकार अपने लेवल पर इसे इंप्लीमेंट करवाने की हर स्तर पर कोशिश करेगी। इसी तरह चंडीगढ़ भी हरियाणा का अटूट हिस्सा है। जिसके लिए हरियाणा की सभी राजनीतिक पार्टियां लामबंद हैं। हम पूरी तरह से एकमत होकर इस लक्ष्य पर दृढ़ता से डटे हुए हैं।

 

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Isha

Related News

Recommended News

static