स्पा सेंटर की आड़ में चल रहा था देह व्यापार, रेड पड़ी तो स्टाफ हुआ फरार

1/19/2021 10:06:59 AM

करनाल : सी.एम. सिटी में ट्रेड लाइसैंस की जांच करने निकली नगर निगम की टीम को देखकर स्पा सैंटर संचालकों में हड़कम्प मच गया। इसकी भनक लगते ही स्टाफ अपने सैंटर छोड़कर फरार हो गया। निगम की टीम पहुंची तो अधिकतर स्पा सैंटर खाली मिले। इसकी वजह से इनके ट्रेड लाइसैंस भी चैक नहीं हो सके। नगर निगम के कर्मचारियों ने पहले मुगल कैनाल के स्पा सैंटर खंगाले। यहां निराशा हाथ लगी तो इसके बाद सैक्टर-12 स्थित सुपर मॉल की तरफ कूच किया। दोनों ही एरिया में निगम को बिना जांच किए वापस लौटना पड़ा।

दरअसल, इस टीम के साथ होमगार्ड के जवान भी थे। स्पा सैंटरों के स्टाफ ने इसे पुलिस की रेड समझा और इधर-उधर खिसक गए। यह देखकर स्पा सैंटरों की सेवाएं लेने आए व्यक्तियों की धड़कनें भी तेज हो गई। नगर निगम के डिप्टी मेयर नवीन के साथ लाइसैंस ब्रांच के असिसटैंट जितेंद्र मलिक और सैनेटरी इंस्पैक्टर प्रवेश, होमगार्ड के जवानों के साथ ट्रेड लाइसैंस की जांच करने निकले थे। सोमवार को इस टीम ने 20 स्पा सैंटर खंगाले। हैरानी की बात यह है कि इक्का-दुक्का को छोड़कर कहीं पर भी स्टाफ नहीं मिला। बता दें कि नगर निगम के एरिया में करीब 25 हजार कमर्शियल यूनिट हैं। इनमें से करीब 3 हजार के पास ही ट्रेड लाइसैंस हैं। 

भागो रेड पड़ गई...
डिप्टी मेयर नवीन जैसे ही टीम को लेकर शहर में निकले तो इसकी भनक दुकानदारों को लग गई। स्पा सैंटरों पर जांच की कार्रवाई शुरू ही की थी कि यह मैसेज सोशल साइट पर तेजी से वायरल हो गया। इसके बाद बाकी के स्पा सैंटर संचालक भी अलर्ट हो गए। इससे पहले की टीम उन तक पहुंचती वह मौके से खिसक गए। होमगार्ड के जवानों को देखकर कुछ व्यक्ति स्टाफ आवाज लगाते दिखे कि भागो पुलिस की रेड पड़ गई। 

तो क्या स्पा सैंटरों में चल रही गलत गतिविधियां 
नगर निगम की टीम सोमवार को केवल स्पा सैंटरों पर जांच करने पहुंची। सूत्रों की मानें तो डिप्टी मेयर नवीन ने नगर निगम कमिश्नर को शिकायत की थी कि इन सैंटरों में गलत गतिविधियां चल रही हैं। निगम कर्मचारियों को देखकर जिस प्रकार से हड़कंप की स्थिति रही। टीम को देखकर स्टाफ जैसे इधर-उधर खिसका उससे शक और गहराता है। डिप्टी मेयर नवीन ने भी कहा कि जनता ने कई बार ऐसी शिकायतें की हैं। 

ट्रेड लाइसैंस लेकर करें कमॢशयल एक्टिविटी : नवीन 
डिप्टी मेयर नवीन ने बताया कि नगर निगम एरिया में काफी लोग बिना ट्रेड लाइसैंस के कमर्शियल एक्टिविटी कर रहे हैं। ऐसे लोग निगम से ट्रेड लाइसैंस नहीं बनवाते। इससे नगर निगम को रैवेन्यू का लॉस हो रहा है। शहर के विकास के लिए पैसे चाहिए। इसलिए अब इन पर शिकंजा कसा जाएगा। स्पा सैंटरों में गलत गतिविधियों की कई बार शिकायत आती हैं। 

अब निगम करवाएगा सर्वे 
ट्रेड लाइसैंस के मामले में निगम अब सख्ती के मूड में है। लाइसैंस ब्रांच के असिसटैंट जितेंद्र मलिक ने बताया कि सक्षम युवाओं को लेकर जल्द ही शहर में सर्वं करवाया जाएगा। जिन दुकानदारों के पास ट्रेड लाइसैंस नहीं हैं, उन्हें नोटिस दिए जाएंगे। हमारा लक्ष्य रहेगा कि सभी 25 हजार कमर्शियल युनिट का ट्रेड लाइसैंस बनवाया जाए। ऐसा हुआ तो निगम को सालाना करीब एक करोड़ की लाइसैंस फीस मिलेगी। 
फोटो 18 केएनएल 33 : सुपर मॉल के स्पा सैंटर में जांच के बाद बाहर निकलती निगम की टीम। (देवेंद्र)
 


Isha

Related News