सावधान! कल चंडीगढ़, दिल्ली सहित इन रास्तों पर सफर से बचें, किसानों के जाम में फंस सकते हैं आप

9/19/2020 11:46:23 PM

चंडीगढ़ (चंद्रशेखर धरणी): किसानों पर किए गए लाठीचार्ज एवं झूठे मुकदमों और कृषि अध्यादेश के विरोध में 20 सितंबर को हरियाणा बंद का आह्वान भारतीय किसान यूनियन व अन्य किसान संगठनों ने किया हुआ है। इसी से संबंधित पंजाब केसरी को जो इनपुट मिला है उनके अनुसार किसान संगठन पंजाब, राजपुरा व लालड़ू के निकट जाम लगा सकते हैं। केन्द्रीय सुरक्षा एजेंसियों ने भी इस बारे हरियाणा सरकार को इनपुट दिया है। पंजाब यूथ कांग्रेस, कांग्रेस के कार्यकर्ता व किसान संगठन भी हरियाणा में जाने का प्रयास कर सकते हैं। इन क्षेत्रों में सुरक्षा एजेंसियां विशेष रूप से सक्रिय हो गई हैं।

हरियाणा में इन रास्तों पर लग सकता है जाम
सूत्रों से मिले इनपुट के आधार पर मोहड़ा (अम्बाला), जीटी रोड, यमुनानगर-पंचकूला राष्ट्रीय राज मार्ग, नारायण गढ़,बरवाला, दोसड़का, यमुनानगर से पीपली-करनाल मार्ग पर रादौर के आसपास, लाडवा, इंद्री, करनाल व कुरुक्षेत्र मंडी के आसपास, सिरसा, हिसार, अलग अलग स्थानों पर, पानीपत में शिवा गांव जीटी रोड, पानीपत-जींद रोड पर मतलौडा के करीब, पानीपत-रोहतक रोड पर इसराना, गोहाना इत्यादि स्थानों पर सड़कें अवरुद्ध करने की कोशिश है। अब यह प्रशासन पर निर्भर करता है कि वह क्या कदम उठाता है। किसान संगठनो द्वारा गुरिल्ला रणनीति के तहत सूत्रों के अनुसार अंतिम समय अपनी रणनीति में बदलाव भी हो सकते हैं।

PunjabKesari, Lathicharge

सभी जिलों में सुरक्षा बढ़ाने के लिए पुलिस विभाग को आदेश
गृह सचिव विजयवर्धन ने लिखित आदेश जारी करते हुए सभी उपायुक्तों और पुलिस अधीक्षकों को फील्ड में उतारा है। डीसी-एसपी सुनिश्चित करेंगे कि प्रदर्शन के दौरान कहीं पर कोई हिंसा न हो। आपात स्थिति से निपटने के लिए रविवार को पुलिस और प्रशासन के अफसर-कर्मचारियों के साथ ही अस्पतालों में मेडिकल और पैरामेडिकल स्टाफ की छुट्टियां रद्द कर दी गई हैं। निजी अस्पतालों और एंबुलेंस को भी पूरे स्टाफ के साथ अलर्ट पर रखा गया है। प्रदेश में सभी जिलों में सुरक्षा बढ़ाने और रोड पर पुलिस गश्त करने के आदेश जारी कर दिए गए हैं। सभी उपायुक्तों, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षकों तथा पुलिस अधीक्षकों को आयोजकों से बात करके शांतिपूर्ण विरोध सुनिश्चित करने को कहा गया है। 

कार्यकारी मजिस्ट्रेट व पुलिस अधिकारियों को निर्देश
गृह सचिव ने जानकारी देते हुए बताया कि आयोजकों को सलाह दी गई है कि वे अपना विरोध शांतिपूर्ण व कानूनी तरीके से दर्ज कराएं और राष्ट्रीय तथा राज्य राजमार्गों को रोकने से बचें ताकि यात्रियों या आमजन को असुविधा न हो। सरकार ने सभी कार्यकारी मजिस्ट्रेट व पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं कि वे जिलों में मौजूद रहें और अवकाश पर न जाएं। कार्यकारी मजिस्ट्रेट को उनके पुलिस समकक्षों के साथ ऐसे सभी स्थानों पर तैनात किया जाना चाहिए, जहां प्रदर्शनकारियों का जमावड़ा हो सकता है। 

किसी भी सहायता के लिए इस नंबर पर करें संपर्क
रविवार यानी 20 सितंबर को किसी भी तरह की सहायता की आवश्यकता पड़ती है तो इसके लिए गृह सचिव के नियंत्रण कक्ष (0172-2711925) पर संपर्क किया जा सकता है। गृह विभाग द्वारा पुलिस महानिदेशक, सभी मंडल आयुक्तों, पुलिस रेंज के सभी पुलिस महानिरीक्षकों, उपायुक्तों, जिला मजिस्ट्रेट, पंचकूला, फरीदाबाद, और गुरुग्राम के पुलिस आयुक्तों और सभी जिलों के एसएसपी व एसपी को इन निर्देशों का सख्ती से अनुपालन सुनिश्चित करने को कहा गया है।


Shivam

Related News