सीबीआई ने गुड़गांव के प्राइवेट अस्पताल पर दर्ज किया केस

punjabkesari.in Friday, Aug 05, 2022 - 08:00 PM (IST)

गुड़गांव, (ब्यूरो) : साल 2021 में इलाज के दौरान नॉर्थ ईस्ट की युवती की मौत मामले में सीबीआई ने गुड़गांव के प्राइवेट अस्पताल अल्फा हेल्थकेयर के खिलाफ आईपीसी की धारा 304ए के तहत केस दर्ज किया है। इसमें अस्पताल के मैनेजिंग डायरेक्टर व डेंटिस्ट को आरोपी बनाया गया है। आरोप है कि इलाज के दौरान डॉक्टर ने मरीज को आइसक्रीम खाने के लिए दी थी जिसके बाद उसकी तबीयत बिगड़ी और मौत हो गई थी। इससे आहत होकर उसके भतीजे ने भी दिल्ली के एक होटल में आत्महत्या कर ली थी। आत्महत्या करने से पहले उसने अस्पताल स्टाफ पर उसे प्रताड़ित करने का आरोप लगाया था। 

गुरुग्राम की खबरों के लिए इस लिंक https://www.facebook.com/KesariGurugram पर क्लिक करें।

 

उन्होंने बताया कि जिस वक्त यह घटना हुई उस वक्त अस्पताल में मैनेजिंग डायरेक्टर डॉ अनुज बिश्नोई व डेंटिस्ट अंजली अश्क मौजूद थी। सीबीआई अधिकारियों ने बताया कि शिकायतकर्ता ने आरोप लगाया था कि अस्पताल प्रबंधन की तरफ से इलाज में घोर लापरवाही बरती है। अस्पताल में जब नॉर्थ ईस्ट की युवती रोजी संगमा को भर्ती किया गया तो कोई स्त्री रोग विशेषज्ञ नहीं थी। मरीज को भर्ती करने के छह घंटे तक उसकी हालत बेहद गंभीर बनी हुई थी। उसके ब्लड ट्रांसफ्यूजन की अस्पताल में कोई व्यवस्था नहीं थी। हालत गंभीर होने के बावजूद भी उसे किसी बड़े अस्पताल में भर्ती नहीं किया गया। इस मामले को यूनियन होम मिनिस्टर ने पिछले साल जुलाई में सीबीआई को रेफर किया था।

 

बता दें कि रोजी संगमा एयरलाइंस में केबिन क्रू के रूप में कार्यरत थी, जिसकी 24 जून 2021 को इलाज के दौरान मौत हो गई थी। उसे एक दिन पहले ही अल्फा अस्पताल में डायरिया, हाथ-पैर में दर्द व ब्लीडिंग के कारण अस्पताल में भर्ती सुबह छह बजे भर्ती कराया गया था। सीबीआई अधिकारियों के मुताबिक, उसे डॉक्टर अंजली अश्क डेंटिस्ट ने इलाज दिया था जबकि उसे स्त्री रोग विशेषज्ञ द्वारा दवा दी जानी थी। रोजी संगमा को अस्पताल में भर्ती किए जाने के करीब साढ़े चार घंटे बाद डॉ अनुज बिश्नोई अस्पताल में आए थे जोकि यहां लगे सीसीटीवी कैमरे में साफ दिखाई दे रहा है। इस मरीज के बारे में डॉ अंजलि ने डॉ अनुज बिश्नोई को बताया था। इसके बाद दोपहर डॉ अनुज बिश्नोई ने एसएचओ ब्रिज वासन को मरीज के भर्ती किए जाने के बारे में जानकारी दी थी।  मरीज को संदिग्ध जहरीला पदार्थ दिए जाने व उसके साथ गलत होने की संभावना जताई थी। 

 

रोजी संगमा की मौत की सूचना जब उसके भतीजे सेम्यूल को मिली तो उसने यह मुद्दा सोशल मीडिया पर उठाया और इसकी वीडियो बनाकर उसे वायरल कर दिया। उसने आरोप लगाया था कि वीडियो बनाने पर उसे धमकी दी गई और अस्पताल से बाहर निकाल दिया गया था। मामले में अब सीबीआई ने केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। 



 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Pawan Kumar Sethi

Related News

Recommended News

static