कृषि कानूनों की वापसी पर बोले मुख्यमंत्री मनोहर- प्रधानमंत्री ने दिखाया बड़ा मन, किसान धरना छोड़ें

punjabkesari.in Friday, Nov 19, 2021 - 03:53 PM (IST)

चंडीगढ़ (धरणी): प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा कृषि कानूनों की वापसी की घोषणा के बाद हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर मीडिया क सामने आए। मुख्यमंत्री मनोहर ने कहा कि प्रधानमंत्री ने अगर कानून वापसी की बात कही है तो यह जरूर होगा, किसानों को अब धरना छोड़कर अपने घरों को निकल जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि यह कानून किसानों की भलाई के लिए थे, खासकर यह छोटे किसानों के लिए लाभकारी कानून थे।

वहीं एमएसपी कानून बनाए जाने के सवाल पर मुख्यमंत्री मनोहर ने कहा कि इसको लेकर जो संशय बना हुआ है, उसके लिए प्रधानमंत्री ने एक कमेटी बनाने की बात कही है, जिसके बाद यह भी स्पष्ट किया जाएगा। उन्होंने कहा कहा कि आंदोलन की प्रकृति को ध्यान में रखते हुए उन पर निर्णय लिया जाता है। प्रधानमंत्री ने बड़ा मन दिखाया और गतिरोध को हटाते हुए निर्णय लिया क्योंकि किसान कोई बात सुनना नहीं चाहते। उन्होंने कहा कि अलग-अलग नेताओं ने अलग-अलग बात कही है, कुछ ने स्वागत किया है और कुछ लोगों ने एमएसपी कानून की मांग रखी है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने इन दोनों पर ही अपनी बात कह दी है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री की विश्वसनीयता पूरी दुनिया में बनी हुई है कि जिस बात को उन्होंने कहा उसे पूरा जरूर करते हैं। किसानों को इस पर कोई चिंता नहीं करनी चाहिए। हुड्डा ने भी कहा है कि लोकतंत्र में विश्वास करना चाहिए। मनोहर ने कहा कि हमने हमेशा किसान के हित में हर निर्णय लिया है। कृषि कानूनों को लागू करने के पीछे का उद्देश्य भी किसानों का हित था और किसानों को रद्द करना भी किसानों के हित में है। हर बार यह माना गया है कि किसानों के हित में ही कदम उठाए जाएं।

वहीं चर्चाओं में कानून वापसी के पीछे के कारण चुनाव माना जा रहा है, जिस पर मुख्यमंत्री मनोहर ने कहा कि चुनाव को लेकर कानून वापस नहीं लिए गए, चुनाव तो देश में हर साल आते रहते हैं। यदि इससे पहले यह कानून रद्द होते तो यह कहा जाता कि असम चुनाव को लेकर यह फैसला लिया गया है। वहीं किसानों की मौतों पर खट्टर ने कहा कि जो आदमी चले गए उन पर टिप्पणी नहीं करनी चाहिए।
 

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Shivam

Related News

Recommended News

static