सनसनीखेज: मोर्चरी से गायब हुआ युवक का शव, ट्रेन की चपेट में आने से दो दिन पहले हुई थी मौत

punjabkesari.in Friday, Jan 14, 2022 - 11:48 AM (IST)

फरीदाबाद(अनिल राठी): दिल्ली से सटे फरीदाबाद में जिले के सबसे बड़े अस्पताल मे बड़ी लापरवाही का मामला सामने आया है जहाँ रेल हादसे का शिकार हुए एक युवक की डेड बॉडी ही गायब हो गई। परिजनों ने अस्पताल प्रशाशन और जीआरपी पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए अपने मृतक युवक की डेड बॉडी देने के लिए गुहार लगाई है, वहीँ अस्पताल प्रशाशन ने इस पूरे मामले की जांच करने की बात कही है। 

मृतक के जीजा पंकज ने बताया कि सोनू अपने परिवार के साथ बल्लभगढ़ के सुभाष कालोनी में रहता था। वह मूल रूप से बिहार के लखीसराय जिला स्थित इटोन गांव के रहने वाला था। घर चलने के लिए वह कबाड़ा इकठ्ठा कर उसे दुकान पर बेचता था। उसके एक बेटा व एक बेटी है। दस जनवरी को वह घर नहीं लौटा। दो दिन के इंतजार के बाद परिजनों ने उसकी तलाश शुरू की और कबाड़ी की दुकान पर पूछताछ के लिए पंहुचे। कबाड़ी ने बताया कि वह दो दिन से उसके यहां नहीं आया है। इसके बाद परिजन जीआरपी बल्लबगढ़ पंहुचे। यहां उन्हें एक शव की फोटो दिखाई गई। वह फोटो सोनू की ही थी। 

PunjabKesari

जीआरपीकर्मियों ने बताया कि शव को पोस्टमार्टम के लिए बीके अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया गया है। गुरुवार सुबह परिजन शव लेने मोर्चरी पंहुचे तो उन्हें चार शव दिखाए गए। उनमें सोनू का शव नहीं था। परिजनों का आरोप है कि उन्हें कई घंटे तक यहां- वहां दौड़ाया गया। बार-बार पूछने पर बताया गया कि शव बदल गया है। सोनू के शव को किसी और मृतक के परिजनों को दे दिया गया है। इस मामले में जीआरपी थाना प्रभारी सूरतपाल का कहना है कि इसमें जीआरपी की कोई लापरवाही नहीं है। स्वास्थ्य विभाग से गड़बड़ी हुई है। उसकी तलाश की जा रही है।

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।) 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Isha

Related News

Recommended News

static