कृषि कानून किसानों के लिए डैथ वारंट : शैलजा

12/5/2020 9:16:36 AM

चंडीगढ़ (बंसल) : हरियाणा कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष कु. शैलजा ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा लाए गए कृषि विरोधी काले कानून किसानों के लिए डैथ वारंट हैं। यह काले कानून कृषि क्षेत्र को तबाह करने वाले हैं। कृषि विरोधी काले कानूनों को लेकर कांग्रेस पार्टी की तरफ से भारी विरोध के बाद भी इस तानाशाह भाजपा सरकार ने इन्हें संसद में पारित करवाया और अपने पूंजीपति मित्रों के लिए कृषि क्षेत्र को लूटने के दरवाजे खोल दिए। वह आज पार्टी प्रदेश कार्यालय में पत्रकारों से वार्तालाप कर रही थीं।

उन्होंने कहा कि जजपा, निर्दलीय और भाजपा के विधायक अगर किसानों के साथ है तो उन्हें अपनी स्थिति स्पष्ट करनी चाहिए और हरियाणा की भाजपा सरकार से बाहर आना चाहिए। शैलजा ने कहा कि जजपा ने चुनाव से पहले भाजपा के खिलाफ वोट मांगे थे। जजपा को भाजपा के खिलाफ 10 सीटें मिली थी लेकिन चुनाव बाद जजपा ने भाजपा के साथ सरकार बना ली। जजपा स्पष्ट करे कि वह किसानों के साथ है या इन्हें केवल सत्ता की चिंता है।

केंद्र सरकार ने बंद की ‘पोस्ट मैट्रिक स्कॉलरशिप’ स्कीम’
शैलजा ने आरोप लगाया कि भाजपा और आर.एस.एस. की दलित विरोधी मानसिकता के कारण लगातार दलितों को प्रताडि़त किया जा रहा है। अब केंद्र की भाजपा सरकार द्वारा 11वीं और 12वीं कक्षा के दलित छात्रों की पढ़ाई को बढ़ावा देने के लिए चलने वाली ‘पोस्ट मैट्रिक स्कॉलरशिप’ स्कीम बंद कर दी गई है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस शासन के दौरान जवाहर लाल नेहरू राष्ट्रीय शहरी नवीनीकरण मिशन के तहत गरीब वर्ग के लिए लाखों की संख्या में मकान बनाए थे। अम्बाला और पंचकूला शहर में भी इस मिशन के तहत बड़ी संख्या में गरीब वर्ग को मकान दिए गए थे। लेकिन इस भाजपा सरकार ने गरीब वर्ग को मिलने वाले इन मकानों को अभी तक अलॉट ही नहीं किया है।

‘मेयर और पार्षद को पार्टी सिंबल पर चुनावी मैदान में उतारेगी कांग्रेस’
शैलजा ने कहा कि कांग्रेस पार्टी अम्बाला, पंचकूला और सोनीपत का नगर निगम चुनाव पार्टी सिंबल पर लड़ेगी। उन्होंने कहा कि इन चुनावों के लिए कमेटियों का गठन किया गया है तथा चुनाव लडऩे के इच्छुकों से 5 से 7 दिसम्बर तक आवेदन लिए जाएंगे। 


Manisha rana

Related News