कांग्रेस के हरियाणवी दिग्गजों पर भी प्रहार है तीन राज्यों की हार : डॉ. चौहान

punjabkesari.in Sunday, Dec 03, 2023 - 09:44 PM (IST)

चंडीगढ़ (चंद्र शेखर धरणी) : राजस्थान, मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में भारतीय जनता पार्टी की बेहतरीन चुनावी जीत जहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पार्टी अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा सहित भाजपा के कुशल नेतृत्व का परिणाम है, वहीं पार्टी मानती है कि भाजपा जमीनी स्तर पर काम करने वाले करोड़ों कार्यकर्ताओं का इसमें सर्वाधिक योगदान है। चुनावी नतीजे हरियाणा सहित देशभर के पार्टी कार्यकर्ताओं के लिए नए उत्साह की सियासी संजीवनी के रूप में भी काम करेंगे। यहां जारी एक विज्ञप्ति में हरियाणा भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता डॉ वीरेंद्र सिंह चौहान ने कहा कि इन राज्यों में मनोहर लाल खट्टर के अलावा पार्टी के वर्तमान प्रदेश अध्यक्ष एवं सांसद नायब सिंह सैनी निवर्तमान अध्यक्ष एवं राष्ट्रीय सचिव ओमप्रकाश धनखड़ और करनाल के सांसद संजय भाटिया सहित सैकड़ो नेता व कार्यकर्ता प्रचार हेतु गए थे।

डॉ वीरेंद्र सिंह चौहान ने कहा कि जहां हरियाणा भाजपा के कार्यकर्ता और नेता चुनावी राज्यों में अच्छे नतीजे के संवाहक बने वही कांग्रेस पार्टी की ओर से इन राज्यों में प्रभारी और ऑब्जर्वर बनाकर भेजे गए पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा, पूर्व केंद्रीय मंत्री कुमारी शैलजा और सांसद रणदीप सिंह सुरजेवाला वहां से मुंह की खाकर लौट रहे हैं। अब हरियाणा की जनता आगामी लोक सभा चुनाव में आपस में एक दूसरे से  लठम-लट्ठा करने वाले कथित दिग्गज कांग्रेसियों को उनकी घरेलू पिच पर राजनीतिक धूल चाटने के लिए विवश करेगी। 

भाजपा प्रवक्ता डॉ चौहान ने कहा कि चार राज्यों के चुनाव में भारतीय जनता पार्टी  के कदम हर जगह आगे बढ़े हैं। तेलंगाना में भाजपा की  सीट संख्या और वोट प्रतिशत मैं इजाफा हुआ है। राजस्थान और छत्तीसगढ़ में भारतीय जनता पार्टी ने वहां की सत्ताधारी कांग्रेस से सत्ता छीन कर कमल खिलाने का कार्य किया है। मध्य प्रदेश में कांग्रेस के तमाम षड्यंत्र और दुष्प्रचार के बावजूद भाजपा प्रचंड बहुमत के साथ अपनी सरकार फिर से बनाने की स्थिति में खड़ी है। 

डॉ वीरेंद्र सिंह चौहान ने कहा कि सनातन पर कभी खुलकर तो कभी प्रहार करने वाली कांग्रेस, जातिगत जनगणना का शगुफा छोड़कर हिंदू समाज को तोड़ने का षड्यंत्र रचने वाली कांग्रेस और प्रधानमंत्री  नरेंद्र मोदी पर ओछे ढंग से वार करने वाली कांग्रेस आखिरकार अपने आखिरी 'सुल्तान' राहुल गांधी के अपरिपक्व व्यवहार की बदौलत लगातार सिकुड़ रही है। 2024 का लोकसभा चुनाव उसके पतन का अगला पायदान साबित होगा।

(हरियाणा की खबरें अब व्हाट्सऐप पर भी, बस यहां क्लिक करें और Punjab Kesari Haryana का ग्रुप ज्वाइन करें।) 
(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Editor

Mohammad Kumail

Recommended News

Related News

static